ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश गौरीगंजछोटे मालिक' और ' धागा प्रीत का' फिल्मों की अमेठी में होगी शूटिंग

छोटे मालिक' और ' धागा प्रीत का' फिल्मों की अमेठी में होगी शूटिंग

अमेठी। चिन्तामणि मिश्र अमेठी जिले को नई पहचान मिलने वाली है। जल्द ही यहां

छोटे मालिक' और ' धागा प्रीत का' फिल्मों की अमेठी में होगी शूटिंग
हिन्दुस्तान टीम,गौरीगंजMon, 26 Feb 2024 05:00 PM
ऐप पर पढ़ें

अमेठी। चिन्तामणि मिश्र

अमेठी जिले को नई पहचान मिलने वाली है। जल्द ही यहां दो अवधी फिल्मों की शूटिंग शुरू होने जा रही है।छोटे मालिक और धागा प्रीत का नाम वाली इन फिल्मों के प्रोड्यूसर और निर्देशक अमेठी के कोरारी हीरशाह निवासी उमेश सिंह है। फिल्म में न सिर्फ स्थानीय दृश्य फिल्माए जाएंगे बल्कि क्षेत्रीय कलाकारों को मौका भी मिलेगा।

अमेठी जिले का साहित्य और सिनेमा से सीधा ताल्लुक रहा है। मलिक मोहम्मद जायसी का नाम पूरी दुनिया में विख्यात है तो सिनेमा के क्षेत्र में भी मनोज मुंतशिर जैसे गीतकार और संवाद लेखक, बिट्टू सिंह जैसे कोरियोग्राफर अपने काम का लोहा फिल्म नगरी में मनवा रहे हैं। इन्ही में से एक नाम उमेश सिंह का भी है। उमेश सिंह भोजपुरी फिल्मों में काफी नाम कमा चुके हैं। इस सबके बावजूद फिल्मों की शूटिंग और निर्माण अभी यहां की आबोहवा में नहीं शामिल हो पाया है। अब उमेश सिंह अपने प्रोडक्शन हाउस के जरिए इस काम को भी अंजाम देने जा रहे हैं। उमेश सिंह ने बताया कि अवधी और भोजपुरी मिश्रित दो फिल्मों की शूटिंग पूरी तरह से अमेठी में ही की जाएगी। इनमे पहली फिल्म छोटे मालिक पूर्वांचल में चल रही सामाजिक घटनाओं पर आधारित है। यह फिल्म एक्शन से भरपूर होगी। जबकि दूसरी फिल्म धागा प्रीत का पूरी तरह से पारिवारिक फिल्म होगी। उन्होंने बताया कि इससे पहले एक फिल्म दहाड़ बनाई थी, जिसकी शूटिंग आंशिक रूप से अमेठी में की गई थी। यह दोनों फिल्में पूरी तरह से अमेठी में ही शूट होंगी। फिल्म में उमेश सिंह विलेन के रूप में रहेंगे। जबकि आर रुद्र, चांदनी सिंह, रूपा मिश्रा , एबी बंसल, साधना आदि कलाकार भी अभिनय करेंगे।

इन गांवों में होगी शूटिंग

फिल्म की शूटिंग के लिए भादर ब्लॉक का चयन किया गया है। फिल्म के ज्यादातर दृश्य रामगंज त्रिशुंडी और कल्याणपुर में फिल्माए जाएंगे। इसके साथ ही अन्य प्रमुख स्थानों को भी समाहित किया जाएगा।

नए कलाकारों को मिलेगा मौका

उमेश सिंह ने बताया की फिल्म का मुख्य उद्देश्य अवध क्षेत्र की परंपराओं और सामाजिक बातों को सामने लाने का है। इसके साथ ही अवधी भाषा को विस्तार मिले तथा अमेठी और आसपास के क्षेत्र में अच्छा अभिनय करने वाले नए युवक युवतियों को एक नया प्लेटफार्म दिया जाएगा।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें