DA Image
1 अक्तूबर, 2020|6:58|IST

अगली स्टोरी

बंजर जमीन में पेड़ वाले अंकल ने भर दी हरियाली

बंजर जमीन में पेड़ वाले अंकल ने भर दी हरियाली

कभी कताई मिल की मशीनों के साथ जूझने वाले राम मूरत यादव ने वीआरएस लेने के बाद पृथ्वी को हरा भरा बनाने का संकल्प लिया। गांव-गांव जाकर पेड़ लगाना शुरू किया। साइकिल पर हमेशा कई पौधों और कुदाल-फावड़ा लेकर ही घर से निकलने की आदत से ही वह पेड़ वाले चाचा के नाम से इलाके में मशहूर हो गए।

बहरिया विकासखंड के चकश्याम निवासी राममूरत यादव मऊआइमा सहकारी कताई मिल में कर्मचारी रहे। वहां से वीआरएस लेने के बाद गांव में ही पेड़ों की नर्सरी डाली। अपने ही नर्सरी में उगाए गए पेड़ वह दूरदराज खाली स्थानों, बंजर जमीनों, विद्यालयों एवं दोस्तों के घरों पर रोपित करने लगे। वह रोज साइकिल पर कई पौधे फावड़ा-कुदाल टांगकर निकल पड़ते हैं। खाली जगहों पर उन पौधों को रोपित कर देते हैं धीरे-धीरे यही उनकी पहचान हो गई। बच्चे उन्हें पेड़ वाले चाचा कहने लगे। आसपास के इंटर कॉलेज, डिग्री कॉलेज व अन्य संस्थानों के लोग भी अपने यहां पौधरोपण के लिए राममूरत यादव को आमंत्रित करते हैं। पड़ोसी जनपद प्रतापगढ़ से भी उन्हें पौधरोपण के लिए बुलावा आता है। एक बार उन्होंने अपनी ग्राम सभा से क्षेत्र पंचायत सदस्य का चुनाव लड़ा और जीते भी लेकिन दोबारा चुनाव नहीं लड़ा। अब तो नि:स्वार्थ समाजसेवा करने और पौधरोपण को ही अपना पेशा बना लिया। इसी कड़ी में उन्होंने घर से कुछ दूरी पर ग्राम पंचायत की पांच बिस्वा बंजर जमीन को चुना और वहां पेड़ पौधे लगाने लगे। दो साल में 70 पौधे जिसमें आम, महुआ, शीशम, पाकड़ के तैयार हो गए। गांव के बच्चे और दूर-दराज से आए मेहमान भी उनकी इस बगिया को देखने जाते हैं।

पेड़ लगाने को मांगी ग्राम पंचायत से जमीन

राममूरत ने पेड़ पौधे लगाने के लिए ग्राम पंचायत एवं अन्य जिम्मेदार अधिकारियों से ग्राम पंचायत की बंजर भूमि उपलब्ध कराने की मांग की है। उनका कहना था कि एक दो बीघा जमीन यदि उन्हें दे दी जाए तो पौधे लगाकर एवं उसे तैयार कर के बगिया ग्राम पंचायत को सौंप देंगे।

एक हजार से अधिक पौधे लगाए

बरसात के मौसम में विशेष रुप से पौधरोपण करने वाले राममूरत अब तक एक हजार से अधिक पेड़ लगा चुके हैं। जो भी उनसे मिलने जाता है उसे अपने इस कार्य में भागीदार बनने का मशविरा देते हैं। धरा को हरा-भरा बनाने के लिए प्रोत्साहित करते हैं।

संस्था ने किया सम्मानित

राम मूरत यादव के इस कार्य को देखते हुए सेवाभावी संस्था नोइंग सिटीजंस नीड क्लब केसीएन क्लब ने सम्मानित भी किया था। इसके अलावा उन्हें स्कूल कॉलेज में भी बुला कर सम्मानित किया जाता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Uncle with trees filled greenery in barren land