DA Image
24 सितम्बर, 2020|10:17|IST

अगली स्टोरी

तीमारदारों ने सीएचसी प्रभारी को पीटा, एफआईआर

तीमारदारों ने सीएचसी प्रभारी को पीटा, एफआईआर

1 / 2तीमारदारों ने बुधवार रात कौड़िहार के सीएचसी प्रभारी से मारपीट कर दी। तीमारदार डॉक्टर पर इलाज में जल्दी करने का दबाव बना रहे थे। सूचना पर पहुंची नवाबगंज पुलिस ने आरोपितों को पकड़ने के लिए कई जगह दबिश...

तीमारदारों ने सीएचसी प्रभारी को पीटा, एफआईआर

2 / 2तीमारदारों ने बुधवार रात कौड़िहार के सीएचसी प्रभारी से मारपीट कर दी। तीमारदार डॉक्टर पर इलाज में जल्दी करने का दबाव बना रहे थे। सूचना पर पहुंची नवाबगंज पुलिस ने आरोपितों को पकड़ने के लिए कई जगह दबिश...

PreviousNext

तीमारदारों ने बुधवार रात कौड़िहार के सीएचसी प्रभारी से मारपीट कर दी। तीमारदार डॉक्टर पर इलाज में जल्दी करने का दबाव बना रहे थे। सूचना पर पहुंची नवाबगंज पुलिस ने आरोपितों को पकड़ने के लिए कई जगह दबिश दी, लेकिन सफलता नहीं मिली।

अधीक्षक डॉ. दीपक तिवारी बुधवार को कौड़िहार सीएचसी में रात्रिकालीन ड्यूटी पर थे। रात तकरीबन 11:30 बजे वह भोजन करके अस्पताल परिसर में टहल रहे थे। उनकी शिकायत है कि नशे में धुत आधा दर्जन लोग एक महिला को अस्पताल लेकर पहुंचे। महिला की डिलेवरी के लिए दबाव बनाने लगे। डॉक्टर के अनुसार वह अस्पताल कार्यालय में कागजी लिखापढ़ी कराने लगे। चंद मिनट ही बीते थे कि महिला के साथ आए लोग उनसे अभद्रता करने लगे। विरोध पर उन्हें घसीटते हुए बाहर ले गए, और मारपीट की। मारपीट में उन्हें गंभीर चोटें आईं। शोर सुनकर अस्पताल कर्मचारियों के साथ आसपास के लोग पहुंचे। लोगों को आता देख तीमारदार डॉक्टर को जान से मारने और अस्पताल में आग लगाने की धमकी देते हुए भाग गए। जानकारी होने पर नवाबगंज पुलिस पहुंची। बदमाशों को पकड़ने के लिए घेराबंदी की गई परन्तु आरोपित पकड़ से दूर हैं। डॉक्टर की तहरीर पर नवाबगंज पुलिस ने आधा दर्जन लोगों के खिलाफ मारपीट, सरकारी कार्य में बाधा, जान से मारने की धमकी आदि की धाराओं में केस दर्ज किया है।

कर्मचारियों ने की हड़ताल, चस्पा किया नोटिस

नवाबगंज। डॉक्टर से हुई मारपीट से नाराज अस्पताल के अन्य डॉक्टर और कर्मचारियों ने गुरुवार को हंगामा किया। नारेबाजी करते हुए आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग की। कर्मचारियों ने अस्पताल के बाहर नोटिस चस्पा करके अनिश्चितकालीन हड़ताल की घोषणा कर दी। मांग की गई है कि गिरफ्तारी और अस्पताल परिसर की सुरक्षा के लिए पुलिस की तैनाती की जाए।

सुबह प्रभारी चिकित्साधिकारी ने अपने सहयोगी डॉक्टर और कर्मचारियों के साथ नवाबगंज थाना पहुंचकर एक नामजद और पांच अन्य के खिलाफ तहरीर दी। पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है। परन्तु अस्पतालकर्मी पुलिस की कार्रवाई से संतुष्ट नहीं हैं। प्रभारी डॉक्टर से मारपीट को लेकर डॉक्टरों के साथ ही स्थानीय लोगों मे भी आक्रोश व्याप्त है। नोटिस चस्पा करके हड़ताल पर जाने की सूचना पाकर गुरुवार को पुलिस ने गिरफ्तारी का आश्वासन दिया। लेकिन नाराज डॉक्टरों और स्थानीय लोगों ने अपराधियों की जल्द गिरफ्तारी की मांग करते हुए नारेबाजी कर प्रदर्शन किया।

अस्पताल के गेट से मायूस लौटे मरीज

अस्पताल में डॉक्टर से मारपीट के बाद कर्मैचारियों के हड़ताल पर जाने से मरीजों को गुरुवार को परेशानी उठानी पड़ी। दूरदराज से इलाज कराने पहुंचे कई मरीजों को गेट से ही वापस लौटना पड़ा। कई लोगों ने घंटों इंतजार भी किया लेकिन डॉक्टरों का आक्रोश देखकर वे भी लौटने को मजबूर हुए।

पहले भी हो चुकी है घटना

डा.दीपक तिवारी ने बताया कि इसके पहले 13 जून 2019 को भी डॉक्टर विनय कुमार के ऊपर हमला हुआ था। उस समय कुछ लोगों ने फर्जी मेडिकल बनाने के लिए दबाव बनाया था। इनकार करने पर अभद्रता और मारपीट की गई थी। मामले में नवाबगंज थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई थी।