DA Image
25 फरवरी, 2020|2:24|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शृंग्वेरपुर में मौन रख हजारों ने लगाई आस्था की डुबकी

शृंग्वेरपुर में मौन रख हजारों ने लगाई आस्था की डुबकी

मौनी अमावस्या पर शृंग्वेरपुरधाम समेत आसपास के गंगा घाटों पर हजारों श्रद्धालुओं ने आस्था की डुबकी लगाई। उसके बाद मां शांता के दरबार में माथा टेका, पूजा अर्चना कर परिवार की सुख-समृद्धि और खुशहाली की मंगलकामना की। गंगा तट पर मौजूद गरीब असहायों को दान पुण्य भी किया गया। इस अवसर पर कई लोगों ने गोदान भी किया। सुरक्षा के मद्देनजर इंस्पेक्टर सुरेश सिंह, चौकी प्रभारी अजय सिंह हमराहियों के साथ गंगा तट का भ्रमण करते रहे।

आचार्य जगमोहन पांडेय बताते हैं कि माघ महीने की अमावस्या को मौनी अमावस्या भी कहते हैं। इस दिन मौन रखकर नदियों में डुबकी लगाने का विधान है। मान्यताओं के अनुसार इस दिन पवित्र संगम में देवताओं का निवास होता है। इसलिए इस दिन गंगा स्नान का विशेष महत्व है। मौनी अमावस्या के अवसर पर शृंग्वेरपुर, रामचौरा, सीता कुंड, राजघाट, पिपरी घाट, विद्यार्थी घाट, गऊघाट आदि स्थलों पर श्रद्धालु डुबकी लगाते हैं। शुक्रवार को भोर से ही घाटों पर आस्थावानों का पहुंचना शुरू हो गया था। हजारों की संख्या में पहुंचे श्रद्धालुओं में महिलाएं, बच्चे और बुजुर्ग भी शामिल रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Thousands dip in faith in Shringverpur by keeping silence