DA Image
24 सितम्बर, 2020|11:46|IST

अगली स्टोरी

टीम गठित, अपात्र पेंशनरों की जांच शुरू, हड़कंप

default image

एक गांव में प्रधान द्वारा खुद और पूरे परिवार के उम्र में हेराफेरी कर वृद्धा पेंशन लेने की शिकायत पर जांच हुई तो मामला सही पाया गया। अब डीडीओ ने टीम गठित कर पूरे गांव के आपत्र पेंशनरों की जांच शुरू करा दी है, कार्रवाई के डर से हड़कंप मच हुआ है।

आरोप है कि बहरिया के जुगनीडीह गांव के ग्राम प्रधान अख्तरी बानो समेत उनके परिवार के सदस्यों ने अपने उम्र में हेराफेरी कर सरकारी वृद्धा पेंशन 2014 में लेना शुरू कर दिया था। शिकायत पर उच्च अधिकारी ने जांच किया तो ग्राम प्रधान सहित उनका पूरा परिवार वृद्धा पेंशन लेते पाया गया था। कार्रवाई के डर से 2017 में प्रधान ने परिवार सहित पेंशन की धनराशि समाज कल्याण विभाग को वापस कर दिया गया।

कार्रवाई का सताया डर

हाईकोर्ट में गांव के ही सहरयार हुसेन ने याचिका दाखिल कर बताया कि लिए गए पेंशन तो प्रधान ने सरकार को वापस कर दिया किंतु उम्र की कूटरचना पर कोई कानूनी कार्रवाई नहीं की गई।

हाईकोर्ट के कार्रवाई के डर से सीडीओ ने जिला विकास अधिकारी अशोक कुमार मौर्या को गांव भेजकर प्रधान के परिवार द्वारा लिए गए पेंशन की साक्ष्य एकत्र कराया।

टीम कर रही जांच

जिला विकास अधिकारी अशोक मौर्या ने जुगनीडीह गांव में तीन सदस्यीय टीम गठित कर अपात्र पेंशन धारकों की जांच शुरू करा दिया है जिसके कारण कार्रवाई के डर से गांव में हड़कंप मचा है।

205 पेंशन धारक

जांच कर रहे टीम के सदस्य एडीओ आईएसबी प्रमोद कुमार सिंह ने बताया कि गांव में कुल 205 पेंशनधारक है जिनमे अपात्रों की जांच किया जा रहा है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Team formed investigation of ineligible pensioners started stir