DA Image
29 नवंबर, 2020|3:55|IST

अगली स्टोरी

लालापुर यमुना किनारे प्रशासनिक हूटर की आवाज से मचा हड़कंप

घूरपुर की सीमा से लालापुर क्षेत्र के यमुना के घाटों पर चल रहे अवैध बालू खनन की जांच करने पहुंची प्रशासनिक टीम की गाड़ियों के काफिले व हूटरों की आवाज से तराई इलाका दहल गया। पहले लोगों को लगा कि कोई बड़ा मामला हो गया है जिसके कारण पुलिस प्रशासन की भीड़ जा रही है। जब लोगों को जानकारी हुई कि यह टीम बालू अवैध खनन की जांच करने आई तो अन्य ग्रामीणों ने राहत की सांस ली।

खनन जांच टीम के आने की सूचना सुबह ही लालापुर इलाके के बालू माफिया को हो गई थी। जिससे बालू माफिया ने इलाके के सभी घाटों पर जाने वाले रास्तों को जेसीबी से बंद करवा दिया था। इससे अवैध बालू का खनन देखने पहुंची टीम लालापुर के किसी घाट पर नहीं पहुंच पाई। ग्रामीणों का आरोप है कि यह केवल प्रशासन का दिखावा है जो रोड पर अपना फोकस बनाकर हूटरों को बजाकर चला गये। ग्रामीणों ने कहा कि जिस तरह से चुनाव के समय में प्रशासनिक कांबिंग करते हुए निकलता है यह नजारा ठीक उसी तरह ही था। जगदीशपुर, मानपुर, भिलोर, अमिलिया, नौढ़िया, सेमरी प्रतापपुर आदि यमुना के घाटों पर खुलेआम दिन रात अवैध खनन चल रहा है। लेकिन एक भी घाट पर टीम नहीं पहुंच सकी।