DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  गंगापार  ›  लड़के-लड़की की सहमति पर परिजन भी राजी, मंदिर में रचाई शादी
गंगापार

लड़के-लड़की की सहमति पर परिजन भी राजी, मंदिर में रचाई शादी

हिन्दुस्तान टीम,गंगापारPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 05:30 AM
लड़के-लड़की की सहमति पर परिजन भी राजी, मंदिर में रचाई शादी

मेजा। हिन्दुस्तान संवाद

शादी तय होने के बाद कन्या पक्ष वालों ने बाइक की मांग पर शादी करने से ही इंकार कर दिया। दूसरी ओर लड़के और लड़की एक दूसरे से शादी करने का मन बना चुके थे। बुधवार शाम दोनों इलाके के एक मंदिर में ब्याह रचाने पहुंच गए। जानकारी पर दोनों के परिजन भी पहुंचे। इलाके के संभ्रान्त लोग भी शामिल हुए और विवाह संपन्न हो गया।

छतवा के सोढ़ियावीर मोहल्ला निवासी गुरुचरन निषाद दिल्ली में नौकरी करते हैं। उनका बेटा राजन निषाद भी पिता के साथ दिल्ली में रहकर काम करता है। कोरोना की वजह से लॉकडाउन होने पर बाप बेटे दो माह पहले घर आ गए। इस बीच पकरी सेवार निवासी भगवानदास निषाद उनके घर पहुंच बेटी के रिश्ते की बात की। मामला तय हो गया। इस बीच वर पक्ष की ओर से शादी में बाइक की मांग रखी गई। भगवानदास ने बाइक देने से इंकार किया और रिश्ता नहीं हो सका। इधर ज्योति और राजन निषाद दोनों एक दूसरे से नजदीकिया बढ़ा बैठे थे। एक दूसरे से मोबाइल पर बातचीत करते-करते मिलने लगे। बुधवार दोपहर तीन बजे ज्योति के बुलावे पर राजन निषाद पकरी सेवार स्थित कुटेश्वरनाथ बाबा धाम पहुंच गया। दोनों शादी की जिद पर अड़े तो वर वधू पक्ष के लोग भी पहुंच गए। रात आठ बजे के लगभग पुरोहित पवन दुबे ने विधि-विधान से दोनों की शादी कराई। लड़की पक्ष की ओर से यथा संभव दान दहेज देकर बेटी को विदा किया गया। इस मौके पर पूर्व प्रधान प्रतिनिधि बेचनराम निषाद, नागेश्वर तिवारी, मुन्नू तिवारी, नीरज उर्फ शिशु पाण्डेय, धनंजय प्रजापति, पूर्व प्रधान सिंगारी देवी, प्रधान प्रतिनिधि मिथिलेश उर्फ ननकऊ पांडेय, जुगुनू प्रजापति, बृजेश प्रजापति, सहित सैकड़ों की संख्या में दोनों पक्षों के लोग उपस्थित रहे।

संबंधित खबरें