ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश गंगापारमेजा में सुनी ग्रामीणों की समस्याएं

मेजा में सुनी ग्रामीणों की समस्याएं

प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा सलैयाकला में लोक सुनवाई का किया आयोजन- मेजा मेजा। उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की ओर से सलैयाकला गॉव स्थित...

मेजा में सुनी ग्रामीणों की समस्याएं
default image
हिन्दुस्तान टीम,गंगापारMon, 24 Jun 2024 05:30 PM
ऐप पर पढ़ें

उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की ओर से सलैयाकला गांव स्थित सामुदायिक विकास भवन में जन सुनवाई बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें सलैयाकला, सलैयाखुर्द, कोहड़ार, मईपताई, भगदेवा, इसौटा, सहित विभिन्न गांवों के नागरिक उपस्थित रहे। जन सुनवाई बैठक में उपस्थित लोगों से प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों ने कहाकि मेजा उर्जा निगम में इस समय 660-660 मेगावाट की दो इकाईयां कार्य कर रही हैं। आठ सौ मेगावाट की तीन इकाईयों की स्थापना की जानी है। जिसके लिए लोक सुनवाई कार्यक्रम रखा गया है। यदि इसमें किसी प्रकार की कोई दिक्कत हो तो उन्हें जानकारी से अवगत कराएं। मौके पर उपस्थित रहे एनटीपीसी के सीनियर प्रबन्धक सौरभ कुमार पाठक ने बताया कि अल्ट्रा-सुपर क्रिटिकल प्रौद्योगिकी पर आधारित पारंपरिक इकाईयों की तुलना में कोयले की खपत कम करती है। मेजा उर्जा निगम की पहली इकाई वर्ष 2008 में पंजीकृत हुई, जिसका बिजली उत्पादन 1320 मेगावाट का कुशल संचालन हो रहा है। उर्जा की खपत को देखते हुए, केन्द्र सरकार ने मेजा उर्जा निगम की क्षमता वृद्धि करने का निर्णय लिया है, जिसके लिए 114 हेक्टेयर भूमि की आवश्यकता है। तीनों इकाईयॉ एनटीपीसी परिसर में स्थापित की जाएगी। हरित क्रांति को बढ़ावा देने के लिए हरे भरे फलदार पौध रोपे जाएंगें। बिजली का उत्पादन होने पर उत्तर प्रदेश व उत्तरांचल को बिजली उत्पादन का अधिकांश हिस्सा दिया जाएगा। बिजली समस्या दूर हो जाएगी। दस किलोमीटर के दायरे में पर्यावरण विभाग की ओर से अध्ययन किया गया जिसमें सबकुछ ठीक-ठाक पाया गया। 2902 करोड़ की परियोजना से आस-पास के गांवों का भी विकास होगा। इस अवसर पर विधायक कोरांव राजमणि कोल, श्रमिक नेता विमलेश मिश्र, अश्वनी जैन, संजय कुमार यादव ने क्षेत्र की विभिन्न समस्याओं को रखते हुए, विकास कार्यो पर बल दिया। कार्यक्रम की अध्यक्षता अपर जिलाधिकारी प्रशासन पूजा मिश्रा, एनटीपीसी के सुधीर मुदाही ने सभी की बातों को सुनकर समाधान करने की बात कही।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।