DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नंबर लगाने पर विवाद में बस में तोड़फोड़, कई जख्मी

सोरांव थाना क्षेत्र के इलाहाबाद-लखनऊ राजमार्ग स्थित मोरहूं चौराहे पर सुल्तानपुर जा रही सवारी बस को रोककर दबंगों ने जमकर तोड़फोड़ की। राड से बस के शीशे तोड़ने के दौरान कई सवारियों को भी चोट आई। घटना गुरुवार शाम पांच बजे हुई। बेली और फाफामऊ के रूदापुर के दो लोगों की बस सिविल लाइंस हनुमान मंदिर से प्रतापगढ़ सुल्तानपुर के लिए चलती है। गुरुवार शाम साढ़े चार बजे सिविल लाइन हनुमान मंदिर के पास दोनों बस के संचालकों में नंबर लगाने को लेकर कहासुनी हो गई। उस समय तो विवाद लोगों ने शांत करा दिया। इसके बाद बेली के बस संचालक की बस सवारियों से भरकर चली तो उसे फाफामऊ के रूदापुर में रोककर हमला बोल दिया। ईंट-पत्थर चलाने के बाद लाठी डंडा और लोहे के राड से बस का शीशा तोड़ दिया। इससे बस में बैठी सवारियों में अफरातफरी मच गई। लोग शोर मचाते हुए बाहर की तरफ भागने लगे। सरेआम बस पर हमला देख किसी ने पुलिस को सूचना दी, लेकिन पुलिस के पहुंचने से पहले ही हमलावर भाग गए। इसके बाद मामूली रूप से चोटिल सवारियों का प्राथमिक उपचार करवाया गया। मामले को गंभीरता से लेते हुए फाफामऊ चौकी प्रभारी ने दोनों पक्ष को बातचीत के लिए चौकी बुलवाया है। दोनों बस संचालकों में पुराना विवाद सिविल लाइंस में नंबर लगाने को लेकर दोनों के बीच काफी समय से विवाद चला आ रहा है। बीते दिनों एक पक्ष ने रूदापुर के बस आपरेटर की बस को फाफामऊ में रोककर तोड़फोड़ की थी। उसी के बदले की कार्रवाई में गुरुवार को बेली की बस में रूदापुर के बस संचालक की तरफ से तोड़फोड़ करवाई गई। भूमि पर कब्जे को लेकर दो पक्ष भिड़े पुलिस, पीएसी के साथ पहुंचे तहसीलदार विवाद के निस्तारण तक शांति बनाए रखने का निर्देश फाफामऊ। फाफामऊ चौकी क्षेत्र के बसना नाले के समीप स्थित एक भूखंड पर कब्जे को लेकर गुरुवार को दो पक्ष आमने-सामने आ गए। विवाद इतना बढ़ा कि तहसीलदार को पुलिस, पीएसी के साथ मौके पर पहुंचना पड़ा। फिलहाल तहसीलदार अरविंद मिश्र ने विवाद के निस्तारण होने तक मौके पर यथास्थिति बनाए रखने का आदेश दिया है। मौके पर तनाव बना हुआ है। जानकारी के मुताबिक यह भूमि बसना नाले के पास रंगपुरा ग्रामसभा और फाफामऊ बाजार की सीमा पर स्थित है। यहां के राजकुमार भारतीया उर्फ ताऊ का कहना है कि उक्त भूखंड उनकी पैतृक संपति है। राजकुमार के मुताबिक गुरुवार सुबह कुछ लोग जेसीबी लेकर उक्त भूमि पर पहुंचे और समतलीकरण करवाने लगा। जानकारी होने पर जब राजकुमार मौके पर पहुंचे तो उक्त लोगों ने उस भूमि को अपना बता दिया। मामला बढ़ा तो राजकुमार ने मामले की शिकायत उच्चाधिकारियों के साथ यूपी 100 को सूचना दी। विवाद की सूचना पर तहसीलदार, सोरांव एसओ, पीएसी के साथ मौके पर पहुंचे और विवाद को शांत कराया। दूसरे पक्ष के राजू केसरवानी, आशीष, उमाशंकर और वचन सिंह का कहना है कि यह जमीन उनकी है। फिलहाल तहसीलदार ने विवाद के निपटारे तक किसी भी तरह का कार्य करने से मना किया है। बता दें कि इस भूखंड को लेकर इसके पहले भी विवाद हो चुका है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Demolition on the bus, several injured