ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश गंगापारखस्ताहाल सड़कें दे रहीं दुर्घटनाओं को दावत

खस्ताहाल सड़कें दे रहीं दुर्घटनाओं को दावत

बरौत। क्षेत्र में मौजूद एक दर्जन खस्ताहाल सड़क हादसों को दावत दे रही हैं।...

बरौत। क्षेत्र में मौजूद एक दर्जन खस्ताहाल सड़क हादसों को दावत दे रही हैं।...
1/ 2बरौत। क्षेत्र में मौजूद एक दर्जन खस्ताहाल सड़क हादसों को दावत दे रही हैं।...
बरौत। क्षेत्र में मौजूद एक दर्जन खस्ताहाल सड़क हादसों को दावत दे रही हैं।...
2/ 2बरौत। क्षेत्र में मौजूद एक दर्जन खस्ताहाल सड़क हादसों को दावत दे रही हैं।...
हिन्दुस्तान टीम,गंगापारMon, 24 Jun 2024 05:00 PM
ऐप पर पढ़ें

क्षेत्र में मौजूद एक दर्जन खस्ताहाल सड़क हादसों को दावत दे रही हैं। शिकायत के बावजूद भी संबंधित विभाग के अधिकारियों ने इस खस्ताहाल सड़क पर कोई ध्यान नहीं दिया। बरौत बाजार से टेला जाने वाली सड़क व भीटी से सीतामढ़ी तक जाने वाली सड़क, बरौत से बिठौली तक जाने वाली सड़क अपनी दुर्दशा पर आंसू बहा रही है। आए दिन राहगीर दुर्घटना के शिकार हो रहे हैं। स्थानीय लोगों द्वारा कई बार शिकायत की गई लेकिन कोई फायदा नही हुआ। तीनों सड़के एक जिले से दूसरे जिले को जोड़ने वाली प्रमुख सड़के हैं। जहां से हजारों लोगों का आना-जाना लगा रहता है।सड़कों की हालत बद से बदतर हो गई है।आक्रोशित ग्रामीणों ने पूर्व में प्रदर्शन कर आक्रोश भी जताया था। इसके बाद जिम्मेदारों की कुंभकरणी निद्रा टूटी।सड़क मरम्मत करने के लिए पहुंचे लेकिन केवल खानापूर्ति कर वापस चले गए।

बरौत बाजार से निकलते ही रेलवे फाटक से लगभग 500 मी तक सड़क इतना खराब हो गई है कि पैदल चलना भी मुश्किल हो गया है। सड़को में बने गढ्ढो में कई लोग गिरकर गंभीर दुर्घटना के शिकार हो चुके हैं। किसी का पैर टूट गया तो किसी का हाथ टूट गया जो आज भी चारपाई या अस्पताल में कराह रहे हैं।बरौत नेशनल हाईवे से रेलवे स्टेशन भीटी की दूरी मात्र 300 मीटर है जबकि इस सड़क की चौड़ाई सरकारी अभिलेखों में 8 फीट है। सड़क स्थानीय प्रशासन एवं विभाग की उदासीनता की भेंट चढ़ गई है। जिससे लोग सड़क पर धड़ल्ले से अतिक्रमण कर रहे हैं।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।