DA Image
11 अप्रैल, 2021|8:54|IST

अगली स्टोरी

रेलवे की ओएचई लाइन टूटने से गेहूं जलकर राख

खेतों के ऊपर से होकर गुजर रहे रेलवे की ओएचई लाइन के अचानक टूट जाने से खेतों में आग लग गई। इससे किसानों का कई बीघा खेत की गेहूं की फसल जलकर राख हो गई। अचानक हुई तबाही को देखकर किसानों का गुस्सा फूट पड़ा। वे रेलट्रैक पर भी आ धमके। घटना से रेल अधिकारियों में हड़कंप मच गया। सूचना पर रेलवे पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। जिसने किसी तरह किसानों को समझा-बुझाकर उनका गुस्सा शांत कराया। बुधवार को दिल्ली रेलखंड के जलसेर और चमरौला रेलवे स्टेशन के मध्य 1274 किमी खम्भा संख्या के पास से ओएचई के तार जा रहे हैं। इनके किनारे ही गेहूं के खेत भी हैं। यहां अचानक ही फॉल्ट होने के कारण ओएचई के तार टूटकर खेतों में आ गिरे जिससे खेतों में खड़ी पकी हुई कई बीघा गेहूं की फसल जलकर राख हो गई। सूचना मिलते ही किसानों के होश उड़ गए। वे दौड़ते हुए खेतों में पहुंचे। उन्होंने किसी तरह आग पर काबू पाने का प्रयास किया लेकिन वे आग पर काबू नहीं पा सके। जिसके चलते गेहूं के खेतों में लगी भीषण आग की चपेट में आकर कई बीघा गेहूं की फसल जलकर राख हो गई। इस घटना से आक्रोशित हुए ग्रामीणों ने रेलट्रैक पर आकर जाम लगाने का प्रयास किया। घटना की सूचना मुख्य नियंत्रण कक्ष टूंडला के रेलअधिकारियों को मिलने पर हंगामा खड़ा हो गया। रेल अधिकारियों ने तत्काल ही रेलवे पुलिस को मौके पर पहुंचने के निर्देश दिए। रेलवे सुरक्षा बल टूंडला के थाना प्रभारी आनंद कुमार अपनी टीम को लेकर घटनास्थल पर जा पहुंचे। उन्होंने किसी तरह गुस्साए ग्रामीणों को समझाया-बुझाया, तब कहीं जाकर ग्रामीणों का गुस्सा शांत हो सका।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Wheat washed by the breaking of railway's OHE line