DA Image
31 मार्च, 2020|8:15|IST

अगली स्टोरी

धर्म की राह पर चलने से होता है जीव का कल्याण

default image

सुहाग नगरी में चल रहे जैन मेला महोत्सव में विविध धार्मिक कार्यक्रमों की धूम रही। समारोह में सैकड़ों जिनभक्तों ने उत्साह के साथ भाग लिया। मेला स्थल श्रीजी के जयकारों से गूंजता रहा। शुक्रवार को नगर के जिनभक्त सुबह होते ही मेला स्थल पहुंच गए। जहां उन्होंने समोशरण में विराजमान जिन भगवान का श्रीजी का भक्ति भाव से अभिषेक पूजन किया। समोशरण में आयोजित विधान में इंद्र, इंद्राणियों ने श्रद्धाभाव से पूजा पाठ किया।

समोशरण में मंचासीन जैनाचार्य वसुनंदी महाराज ने जिन भक्तों को धर्म की राह दिखाई। उन्होंने कहा कि धर्म की राह पर चलने से जीव का कल्याण होता है। जो लोग रास्ता भटक जाते हैं। वे अधार्मिक कार्य करने लगते हैं। जिससे उनका संसार सागर में भटकना तय हो जाता है। मुनि वसुनंदी ने कहा कि अपने धर्म की रक्षा करना हम सभी का मूल कर्तव्य है। अगर हम धर्म की रक्षा करते हैं तभी धर्म भी हमारी रक्षा करता है। उन्होंने कहा कि श्रावक अपने भगवान की पूजा मन लगा कर करें। सिर्फ मंदिर जाकर भगवान के दर्शन का दिखावा ना करें। क्यों कि पूजा पाठ का दिखावा करने वालों का कुछ भला होने वाला नहीं है।

कार्यक्रम में संजीव जैन एडवोकेट, प्रमोद जैन, महेंद्र जैन, चंद्र प्रकाश जैन, संभव जैन, नरेंद्र जैन, शोभित जैन, दिनेश जैन एडवोकेट, निर्मल कुमार जैन, रवीश जैन, चक्रेश जैन, सुनील जैन आदीश जैन, निमिष जैन, शैलेंद्र जैन, मनोज जैन, रोहित जैन आदि की सहभागिता रही।

मुनि विवेक सागर का नगर में मंगल प्रवेश 30 को

जैनमुनि विवेक सागर महाराज का 30 दिसंबर को मंगल प्रवेश होगा। शुक्रवार को जैनमुनि फतेहपुर सीकरी से विहार कर आगरा पहुंच गए। मुनिश्री का विहार कराने गए नगर के जिनभक्त चंद्र प्रकाश जैन ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मुनि विवेक सागर आगरा में प्रवास कर पद यात्रा करते हुए 30 को फिरोजाबाद पहुंचेंगे। इस दौरान नगर के संजय जैन पीआरओ, सचिन जैन, विपिन जैन, विशाल जैन, दीपक जैन साथ रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Walking in the path of religion leads to welfare of the organism