DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › फिरोजाबाद › मिलावट पर मसाला प्लांट और मकान सील, 17 लाख के मसाले सीज
मथुरा

मिलावट पर मसाला प्लांट और मकान सील, 17 लाख के मसाले सीज

हिन्दुस्तान टीम,मथुराPublished By: Newswrap
Tue, 19 Dec 2017 07:53 PM
मिलावट पर मसाला प्लांट और मकान सील, 17 लाख के मसाले सीज

उपजिलाधिकारी छाता राजेंद्र पेंसिया के नेतृत्व में खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग ने कोसी के सरायशाही स्थित मसाला पीसने के प्लांट पर कार्रवाई की। यहां मसाला पीसने के प्लांट पर बड़े पैमाने पर मिलावट पायी गई। प्लांट संचालक फरार हो गया। चक्की चला रहे एक युवक को गिरफ्त में लिया गया। विभागीय टीम ने प्लांट और संचालक के घर को सील कर दिया है। साथ ही 17 लाख के मसाले सीजर कर मसालों के 21 नमूने लिए गए हैं।

विगत कई दिनों से एसडीएम छाता राजेंद्र पेंसिया को शिकायत मिल रही थी कि कोसी में खाद्य पदार्थों में जमकर मिलावटखोरी हो रही है। इस पर एसडीएम छाता ने खाद्य विभाग को इसकी जानकारी दी। तब मंगलवार को एसडीएम छाता, तहसीलदार छाता देवेंद्र सिंह, खाद्य विभाग के अभिहित अधिकारी चंदन पांडे, निरीक्षक मुकेश कुमार, ओपी सिंह, नीरद पांडे मय पुलिस बल कोसी में सरायशाही जा पहुंचे। टीम ने वंशीधर जैन के मसाला प्लांट पर छापेमारी की। यहां का नजारा ही अलग था। मसाले में तेजपात की जगह पर यूकेलिप्टस के पत्तों को मिलाया जा रहा था। प्लांट में काफी मात्रा में यूकेलिप्टस के पत्ते मिले। इसके अलावा लेड क्रोमेट, नौसादर व गली हुई लाल मिर्च का भी सैंपल भरा गया। इस दौरान प्लांट संचालक वंशीधर जैन फरार हो गया।

विभागीय टीम ने प्लांट को सील कर दिया है। इसके बाद टीम प्लांट संचालक वंशीधर के घर पहुंचीद। वहां पर दो चक्कियां चल रही थीं। यहां से पुलिस ने चक्की चलाते हुए निकटवर्ती गांव नगला हसनपुर निवासी युवक शीशपाल को पकड़ा है। प्लांट संचालक के घर को भी सील कर दिया गया है। 66 बोरों में मसाले सीजर कर पिसी मिर्च, धनिया, हल्दी, संदिग्ध मसालों सहित 21 नमूने लिए गए।

छापेमारी से बाजार में हड़कंप, दुकानदार भागे

कोसीकलां। खाद्य विभाग की कार्रवाई से बाजार में हड़कंप मच गया व कार्रवाई के डर से दुकानदार दुकानें बंद कर भाग गए। देखते ही देखते सरायशाही के बाजार में सन्नाटा पसर गया।

अधिकारियों ने दी चेतावनी

कोसीकलां। कार्रवाई के संबंध में एसडीएम छाता राजेंद्र पेंसिया और खाद्य विभाग के डीओ चंदन पांडे ने कहा है कि मिलावटखोर छाता तहसील छोड़ जाएं, अन्यथा उन पर इससे भी बड़ी कार्रवाई होगी। अच्छे व्यापारियों का हर तरीके से सहयोग होगा। गलत कार्य करने वालों की नींद हराम होगी। प्लांट एवं मकान का सील कर दिया है। नियमानुसार कार्रवाई की जा रही है।

बगैर लाइसेंस हो रहा था मसाले का कारोबार

अभिहित अधिकारी चंदन पांडेय ने बताया कि मसालों का कारोबार बगैर लाइसेंस एवं बगैर रजिस्ट्रेशन किया जा रहा था। कोई ट्रेड मार्क नहीं लिया गया था।

एक सप्ताह पहले खाद्य विभाग की टीम ने मेरे साथ हाथपाई की थी। इसको लेकर कोसी थाने में तहरीर भी दी गई थी। इसीलिए बदले की कार्रवाई में यह छापेमारी की गई है।

-वंशीधर जैन, प्लांट संचालक।

संबंधित खबरें