DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हजारों लोगों को घरों में बरसात के पानी ने किया कैद

सोमवार को हुई बरसात ने कुछ लोगों को लंबे वक्त के लिए परेशानी दे दी। नगर निगम के जलभराव न होने देने के दावों की पोल तो सोमवार को जलभराव के साथ ही खुल गई। जलभराव के बाद इससे जल्द ही निपटने के नगर निगम के दावे भी मंगलवार को फेल हो गए। मंगलवार को भी करीब डेढ़ दर्जन मोहल्ले और कॉलोनियां जलभराव की चपेट में रहे। इन जगहों पर घरों के बाहर जलभराव होने के कारण लोग अपने घरों में ही कैद रहने को मजबूर होते दिखे।

नगर में सोमवार को कई घंटे हुई लगातार मूसलाधार बारिश से सड़कों के अलावा मोहल्लों की गलियां पूरी तरह जलमग्न हो गई थीं। हालात इतने बदतर हो गए थे कि बरसात का पानी घरों में घुस गया था। सबसे अधिक बुरी हालत निचले क्षेत्रों के अलावा नई आबादी वाले इलाकों की थी। मंगलवार को दूसरे दिन भी कई क्षेत्रों में जलभराव की समस्या देखी गई। हालांकि नगर निगम के अधिकारियों ने दावा किया था कि जलभराव की समस्या से निपटने को पूरे इंतजाम कर लिए गए हैं लेकिन अधिकारियों इन दावों को कई क्षेत्रों में देखे गए जलभराव के हालात पूरी झुठला रहे थे। नगर 24 घंटों बाद भी शहर की जनता को समस्या से पूरी तरह निजात नहीं दिला सका। समस्या के कारण लोग काफी परेशान दिखाई दे रहे थे।

यहां के लोग झेल रहे जलभराव का दंश

हसमत नगर, उर्दूनगर, चिश्ती नगर, दीदामई, झलकारी नगर, द्वारिकापुरी, किशन नगर, आनंद नगर, सत्य नगर टापां का निचला भाग, नई आबादी रहना की मिश्रा कॉलोनी, श्रीपाल कॉलोनी, झील की पुलिया, मिर्जा का नगला पुलिस कॉलोनी, मायापुरी, झारबाग, गंगा रिसोर्ट, सीएल जैन कॉलेज के पास, हुंडावाला बाग, श्रीराम कॉलोनी, दतौजीकलां, जिला अस्पताल कंपाउंड के लोग जलभराव का दंश झेल रहे हैं।

नगर निगम में कर रहे राहत दिलाने की फरियाद

जलभराव की समस्या को लेकर लोगों की शिकायतों का दौर सुबह से ही शुरू हो गया। जलभराव समस्या को जलकल विभाग में एक कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है। मंगलवार को अपर नगर आयुक्त चंदन सिंह एवं अवर अभियंता समस्याओं को लेकर मिलने वाली शिकायतों पर विचार विमर्श कर रहे थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Thousands of people were imprisoned by rain water in houses