This time the vote of NOTA surprised everyone - इस बार नोटा के वोटों ने सबको चौंका दिया DA Image
10 दिसंबर, 2019|3:38|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इस बार नोटा के वोटों ने सबको चौंका दिया

लोकसभा चुनाव के दौरान मतदाताओं द्वारा अगर अपना वोट किसी को नहीं देना होता था तो वह घर बैठे रहते थे। वे अपने गुस्से को जाहिर नहीं कर पाते थे लेकिन पिछले दो बार से मतदाताओं को मिल रहे इस अधिकार का वे प्रयोग कर रहे हैं। इस बार के नोटा के वोटों ने सबको चौंका दिया है।

मंडी समिति शिकोहाबाद में जब वोटों की गिनती शुरू हुई तो किसी अधिकारी से लेकर प्रत्याशी और आम लोगों ने नहीं सोचा था कि लोगों के जेहन में जो दर्द है वह शुरूआती मतगणना के साथ ही उभर कर सामने आने लगेगा। पहले चक्र की मतगणना पूरी होने के बाद जब माइक से उम्मीदवारों को मिले मतों की घोषणा की गई तो इसमें भाजपा चंद्रसेन जादौन को 18134, सपा के अक्षय यादव को 16583, प्रसपा के शिवपाल यादव को 2999, उपेंद्र राजपूत को 293, निर्दलीय चौ.बशीर को 88, निर्दलीय राजवीर सिंह को 74 मत मिले थे। इस राउंड में नोटा में 251 मत गए थे। पहले राउंड में ही नोटा दोनों निर्दलीय प्रत्याशियों के मतों से काफी आगे था। अंतिम 33वें राउंड तक नोटा लगातार अपनी बढ़त बनाकर हजारों में पहुंच गया था। किसी भी राउंड में निर्दलीय प्रत्याशियों का योग इससे आगे नहीं हो पाया। इस अंतिम राउंड में चौ.बशीर को 2539 और राजवीर सिंह को 2409 मत मिले थे। इस राउंड में भी नोटा इनको पछाड़ते हुए 6659 मतों के साथ आगे रहा। पोस्टल वोटों की गितनी के बाद नोटा की संख्या 6676 हो गई थी।

पिछली बार 4654 ने किया था नोटा का प्रयोग

वर्ष 2014 से जब नोटा की शुरूआत हुई थी तो इस वर्ष भी लोगों ने अपने गुस्से को जाहिर करने को बूथों का रुख किया था। उस साल भी 4654 मतदाताओं ने इस नोटा का प्रयोग किया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:This time the vote of NOTA surprised everyone