The main route of Raja ka taal has been victim of encroachment - अतिक्रमण का शिकार हुआ राजा का ताल का मुख्य मार्ग DA Image
21 नबम्बर, 2019|1:49|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अतिक्रमण का शिकार हुआ राजा का ताल का मुख्य मार्ग

अतिक्रमण का शिकार हुआ राजा का ताल का मुख्य मार्ग

1 / 2नेशनल हाईवे से कस्बा राजा का ताल की ओर जाने वाला मुख्य मार्ग अतिक्रमण का शिकार हो चला है। सड़क की पटरियों को जहां दुकानदारों ने कब्जा रखा है। वहीं उद्यमियों ने फैक्ट्रियों के बाहर वाहन स्टैंड बनाकर...

अतिक्रमण का शिकार हुआ राजा का ताल का मुख्य मार्ग

2 / 2नेशनल हाईवे से कस्बा राजा का ताल की ओर जाने वाला मुख्य मार्ग अतिक्रमण का शिकार हो चला है। सड़क की पटरियों को जहां दुकानदारों ने कब्जा रखा है। वहीं उद्यमियों ने फैक्ट्रियों के बाहर वाहन स्टैंड बनाकर...

PreviousNext

नेशनल हाईवे से कस्बा राजा का ताल की ओर जाने वाला मुख्य मार्ग अतिक्रमण का शिकार हो चला है। सड़क की पटरियों को जहां दुकानदारों ने कब्जा रखा है। वहीं उद्यमियों ने फैक्ट्रियों के बाहर वाहन स्टैंड बनाकर अतिक्रमण कर लिया है। इससे राहगीरों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

कस्बा राजा का ताल सदर तहसील के अंतर्गत आता है। यहां नेशनल हाईवे से कस्बा की ओर जाने वाले मार्ग पर दो किमी तक लोगों ने अतिक्रमण कर लिया है। इसके चलते सड़क की पटरियों पर राहगीरों के चलने के लिए फुटपाथ भी नहीं बच सका है। हाईवे के निकट मौनी बाबा आश्रम चौराहा से ही सड़क के दोनों ओर अतिक्रमण दिखने लगता है। यहां चौराहे से आगे पीतांबर ग्लास, ओम ग्लास सहित आधा दर्जन प्रमुख कांच कारखाने संचालित हैं। यहां उद्यमियों अपनी फैक्ट्री के बाहर वाहन स्टैंड बना दिए हैं। जहां कारखाने में ड्यूटी पर आने वाले कर्मचारियों की बाइक व साइकिलें खड़ी की जा रही हैं।

इसके बाद शेष बची सड़क की पटरी पर उद्यमी कारखाने से माल लेकर बाहर जाने वाले ट्रकों को खड़ा करा रहे हैं। यहां सड़क के दोनों ओर पटरी से सड़क तक करीब तीन दर्जन ट्रक हर समय आड़े- तिरछे खड़े रहते हैं। यहां हर रोज कारखानों से दर्जन भर ट्रक फैक्ट्री से माल लोड कर गंतव्य को रवाना होते हैं। वहीं दो दर्जन ट्रक और आकर खड़े हो जाते हैं। इससे सड़क की पटरियों पर स्थान ही नहीं बचता है। इससे पदयात्रियों और राहगीरों का आवागमन बाधित होता है। सड़क की पटरियों पर अतिक्रमण होने से आए दिन दुर्घटनाएं होती रहती हैं।

सदर बाजार में दुकानदारों का सड़क पर अवैध कब्जा

सदर बाजार में पटरियों पर सामान रखकर दुकानदारों ने अतिक्रमण कर रखा है। दुकानदार सड़क तक अपना सामान रख लेते हैं। इससे दुकान के बाहर ग्राहक को खड़े होने तक को जगह नहीं होती। दुकान से सामान खरीदने को ग्राहकों को अपने वाहन भी सड़क पर खड़े करने पड़ रहे हैं। इससे राहगीरों एवं वाहन चालकों को अनेक मुश्किलें झेलनी पड़ रही हैं।

जिम्मेदार अफसरों का कोई ध्यान नहीं

कस्बा के मुख्य मार्ग पर अतिक्रमण हटाने की ओर जिम्मेदार अफसरों का कोई ध्यान नहीं है। इससे उद्यमी व दुकानदार सड़क की पटरियों का अपनी निजी जमीन की तरह उपयोग कर रहे हैं। राहगीरों को दिक्कतें होती हैं तो होती रहें।

लोग बोले, चलाओ अभियान- हटाओ अतिक्रमण

- कस्बा राजा का ताल के मैन रोड पर दोनों ओर अतिक्रमण है। दुकानदार पूरी मनमानी कर रहे हैं। वे सुबह होते ही दुकान का सामान निकाल कर पटरियों पर रख लेते हैं। इससे राहगीरों को काफी परेशानी हो रही है।

- मोहित यादव, स्थानीय नागरिक।

- कस्बा के सदर बाजार की स्थिति सड़क की पटरियों पर अतिक्रमण के चलते खराब हो गई है। अफसरों का इस ओर कोई ध्यान नहीं है। प्रशासन को यहां अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाने की आवश्यकता है।

- अजय कुमार, स्थानीय नागरिक।

- सड़क की पटरियों पर कारखानों के बाहर कई स्थानों पर अवैध वाहन स्टैंड बना दिए गए हैं। बाकी जगह सड़क के दोनों साइड की पटरियों पर ट्रक खड़े करा दिए जाते हैं। इससे रास्ता निकल पाना भी मुश्किल हो गया है।

- विपिन कुमार जैन, स्थानीय नागरिक।

- कस्बा में सड़क के सहारे ज्यादातर दुकानदारों ने अतिक्रमण कर लिया है। इसलिए यहां पर कोई किसी की शिकायत नहीं करता है। प्रशासन को स्वयं आगे आकर अतिक्रमण हटवाना होगा। तभी राहत मिल पाएगी।

- होतीलाल कुशवाहा, स्थानीय नागरिक।

बोले अधिकारी...

- कस्बा राजा का ताल में सड़क पर अतिक्रमण का मामला पीडब्ल्यूडी के अंतर्गत आता है। यह विभाग जब अतिक्रमण हटवाने के लिए अभियान चलाएगा तो प्रशासन उसका पूरा सहयोग करेगा।

- राजेश कुमार वर्मा, उपजिलाधिकारी सदर।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The main route of Raja ka taal has been victim of encroachment