Nursing home running without doctors and pharmacists sealed - बिना डाक्टर, फार्मासिस्ट के चल रहा नर्सिंग होम सील DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिना डाक्टर, फार्मासिस्ट के चल रहा नर्सिंग होम सील

बिना डाक्टर, फार्मासिस्ट के चल रहा नर्सिंग होम सील

1 / 3शहर में एक और फर्जी नर्सिंग होम स्वास्थ्य विभाग की गिरफ्त में आ गया। शनिवार को अचानक की गई छापामार कार्यवाही के दौरान नर्सिंग होम न तो कोई चिकित्सक मिला न ही फार्मासिस्ट। सील करने के बाद नर्सिंग होम...

बिना डाक्टर, फार्मासिस्ट के चल रहा नर्सिंग होम सील

2 / 3शहर में एक और फर्जी नर्सिंग होम स्वास्थ्य विभाग की गिरफ्त में आ गया। शनिवार को अचानक की गई छापामार कार्यवाही के दौरान नर्सिंग होम न तो कोई चिकित्सक मिला न ही फार्मासिस्ट। सील करने के बाद नर्सिंग होम...

बिना डाक्टर, फार्मासिस्ट के चल रहा नर्सिंग होम सील

3 / 3शहर में एक और फर्जी नर्सिंग होम स्वास्थ्य विभाग की गिरफ्त में आ गया। शनिवार को अचानक की गई छापामार कार्यवाही के दौरान नर्सिंग होम न तो कोई चिकित्सक मिला न ही फार्मासिस्ट। सील करने के बाद नर्सिंग होम...

PreviousNext

शहर में एक और फर्जी नर्सिंग होम स्वास्थ्य विभाग की गिरफ्त में आ गया। शनिवार को अचानक की गई छापामार कार्यवाही के दौरान नर्सिंग होम न तो कोई चिकित्सक मिला न ही फार्मासिस्ट। सील करने के बाद नर्सिंग होम के खिलाफ थाना रामगढ़ में एफआईआर दर्ज करा दी गई है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा.शिव कुमार दीक्षित को सूचना मिली कि आकाशवाणी रोड पर सीमा के नाम से एक नर्सिंग होम काफी दिनों से संचालित हो रहा है। बिना चिकित्सक के नर्सिंग होम में कुछ अनजान लोग मरीजों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। सीएमओ के निर्देश पर एसीएमओ डा.विनोद कुमार मय टीम के तत्काल मौके पर पहुंच गए। नर्सिंग होम में सभी काम गैरकानूनी होते मिले। टीम को देखते ही कुछ लोग मौके से खिसक गए कुछ लोग जो ग्लूकोज की बोतल चढ़ा रहे थे उन्होंने अपने को छोटा कर्मचारी बताकर अलग कर लिया। काफी प्रयासों के बाद कोई भी नर्सिंग होम में किसी भी चिकित्सक का नाम नहीं बता सका। टीम ने पड़ताल के दौरान मौके से मिले कई कागज एवं पर्चे अपने कब्जे में ले लिए। कानूनी प्रक्रिया पूरी करने के बाद एसीएमओ ने सूचना देकर पुलिस को बुलवा लिया। पुलिस की मौजूदगी में नर्सिंग होम को सील करने के बाद थाना रामगढ़ में रिपोर्ट दर्ज करा दी। इस मौके पर डिप्टी सीएमओ डा.वीपी सिंह भी मौजूद थे। कार्यवाही को लेकर काफी देर तक हड़कंप मचा रहा।

नहीं लग का झोलछाप के नाम का पता

कार्यवाही के दौरान स्वास्थ्य विभाग की टीम नर्सिंग होम संचालक अथवा झोलाछाप डाक्टर का नाम एवं पता लगाने का प्रयास करती रही लेकिन उसका कोई पता नहीं लग सका। एसीएमओ ने बताया कि जल्द ही उसका पता लगा लिया जाएगा।

किसी मरीज ने ही की थी शिकायत

नर्सिंग होम में हो रहे फर्जीवाड़े की सूचना किसी मरीज द्वारा ही मुख्य चिकित्सा अधिकारी को फोन द्वारा दी गई थी। मरीज ने बताया कि यहां तैनात कर्मचारी ग्लूकोज की बोतल चढ़ाने के बदले 1000 रुपये तक वसूल रहे हैं।

नर्सिंग होम में इलाज कराते मिले दो मरीज

एसीएमओ डा.विनोद कुमार ने बताया कि छापेमार कार्यवाही के दौरान नर्सिंग होम में दो मरीजों का इलाज चल रहा था। इसमें एक मरीज घर चला गया जबकि दूसरे को गंभीर हालत में इलाज के लिए ट्रॉमा सेंटर भेज दिया।

बोले सीएमओ...

नगर ही नहीं पूरे जिले में झोलाछाप एवं फर्जी चिकित्सकों की बाढ़ सी आ गई है जिसके लिए स्वास्थ्य विभाग पूरी रिपोर्ट तैयार कर रहा है। इसके लिए टीमें बनाकर उनकी सूची बनाई जाएगी और इसके बाद सभी के खिलाफ थानों में एफआईआर दर्ज होगी

-डा.शिव कुमार दीक्षित, सीएमओ

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Nursing home running without doctors and pharmacists sealed