DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नगर निगम की डेढ़ करोड़ की ग्रांट शासन ने बढ़ाई

शहर में अब विकास कार्यों के लिए धनराशि का अभाव आड़े नहीं आएगा। प्रदेश सरकार ने सोमवार को अचानक नगर निगम की ग्रांट में डेढ़ करोड़ का इजाफा करने का निर्णय लेते हुए शासनादेश जारी कर दिया है। शासनादेश प्राप्त होते ही अधिकारियों में खुशी है।

नगर निगम बनने के बाद तत्कालीन सपा सरकार द्वारा शहर के विकास को सात करोड़ से अधिक की धनराशि ग्रांट के रूप में सुनिश्चित की थी। सत्ता परिवर्तन के जैसे ही प्रदेश में भाजपा की योगी सरकार आई वैसे ही ग्रांट में कटौती होना शुरू हो गई। फिलहाल नगर निगम को ग्रांट के रूप में छह लाख 13 लाख रुपये की धनराशि मिल रहे हैं। लगातार ग्रांट कम होने से शहर के विकास कार्य भी प्रभावित हो रहे थे। कई भाजपा नेताओं अपनी वेदना से मुख्यमंत्री के अलावा नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना को भी अवगत करा दिया था। नगर आयुक्त और मेयर ने मिलकर ग्रांट को बढ़ाने के लिए शासन को कई पत्र भेजे। इसी को लेकर प्रदेश सरकार ने नगर निगम की ग्रांट को बढ़ाने का फैसला लिया। अब नगर निगम को पूर्व की भांति सात करोड़ 62 लाख 76 हजार 697 रुपये ग्रांट के रूप में मिलेंगे। नगर आयुक्त विजय कुमार ने भी ग्रांट बढ़ने को शासन का अच्छा कदम बताया है।

बोलीं मेयर-

ग्रांट की कटौती से विकास कार्य प्रभावित हो रहे थे। अब विकास कार्यों को फिर से तेजी से कराया जाएगा। जिन इलाकों में सड़कें, पेयजल समस्या है उनको दूर कराया जाएगा। ग्रांट बढ़ोत्तरी के प्रयास साकार हो गए।

-नूतन राठौर, मेयर, नगर निगम

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Municipal corporation s grant of one and a half million increased