DA Image
3 जुलाई, 2020|12:37|IST

अगली स्टोरी

स्कूल खुलते ही एमडीएम के लिए सूची दुरुस्त की

default image

शासन द्वारा अनलॉक सेकंड को लेकर भले ही 31 जुलाई तक स्कूल बंद रखने का निर्णय लिया हो लेकिन बेसिक शिक्षा विभाग ने इस निर्णय को बच्चों के लिए मान्य करते हुए शिक्षकों को नियमित स्कूल पहुंचने के निर्देश दिए हैं।

विभाग ने शिक्षकों को एक जुलाई से नियमित स्कूल खोलने एवं खाद्यान्न वितरण सहित ऑपरेशन कायाकल्प एवं अन्य योजनाओं का समय व तरीके से क्रियान्वयन कराने के लिए निर्देशित किया है। हालांकि बेसिक शिक्षा विभाग से जुड़े शिक्षक संगठनों द्वारा विभाग के इस निर्णय पर आपत्ति दर्ज कराई गई है। विभाग का मानना है कि सभी शिक्षक कर्मचारियों के स्कूल पहुंचने से खाद्यान्न वितरण तथा पाठ्य पुस्तक वितरण शासन की मंशा के अनुरूप बगैर बच्चों को स्कूल बुलाए उनके अभिभावकों के माध्यम से किया जा सकेगा। योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए आवश्यक अभिलेख तैयार करने एवं आधार कार्ड तथा अध्यापकों की सहमति का पत्र प्राप्त करने की प्रक्रिया इसी दौरान शिक्षकों को पूरी करनी होगी। विभाग के निर्देश पर एक जुलाई को परिषदीय शिक्षक स्कूल पहुंचने के साथ ही खाद्यान्न वितरण के लिए बच्चों की सूची दुरुस्त करते नजर आए।

गांव गए बच्चों को खोज रहे शिक्षक:फिरोजाबाद। सुहाग नगरी में बड़ी संख्या में गैर जनपदों से आकर तमाम श्रमिक यहां कांच कारखानों में काम कर अपने परिवार का पालन पोषण करते हैं। लॉकडाउन के दौरान कारखाने बंद होने पर ज्यादातर श्रमिक किराए का मकान खाली कर अपने गांव चले गए परिषदीय शिक्षकों के लिए उन बच्चों के आधार कार्ड एवं अन्य विवरण प्राप्त करना मुश्किल हो रहा है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:List of MDM corrected as soon as school opens