DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  फिरोजाबाद  ›  भारतीय सेना के जवान ने बचाई गर्भवती महिला मरीज की जान

फिरोजाबादभारतीय सेना के जवान ने बचाई गर्भवती महिला मरीज की जान

हिन्दुस्तान टीम,फिरोजाबादPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 06:10 PM
भारतीय सेना के जवान ने बचाई गर्भवती महिला मरीज की जान

भारतीय सेना के जवान एक ओर देश की सरहद की सुरक्षा के लिए जान की बाजी लगा देते हैं। वहीं जब मानव सेवा की बात आती है तो वे अपना लहू देकर किसी की जान बचाने से भी पीछे नहीं हटते। शहर में सेना के जवान श्याम वीर ने भी गर्भवती महिला मरीज की जान बचा कर मानवता की मिसाल पेश की है।

नगर के ट्रॉमा सेंटर हॉस्पीटल में एक गर्भवती महिला उमा शर्मा भर्ती थी। उमा की डिलीवरी होनी थी। अचानक महिला के प्लेटलेट्स काफी नीचे गिर गए। जो कि 37 हजार रह गए। उपचार कर रहे डॉक्टर ने परिजनों से तत्काल बी-नैगेटिव ग्रुप के प्लेटलेट के जंबो पैक का इंतजाम करने को कहा। डॉक्टर ने कहा कि मरीज को शीघ्र प्लेटलेट न चढ़ाए गए तो ब्लीडिंग शुरू हो जाएगी। जिससे तब महिला की जान पर बचाना मुश्किल हो जाएगा। डॉक्टर की बात सुनकर परिजन परेशान हो गए। पीड़िता के परिजनों ने सोशल मीडिया पर अपील की। जिसे देख कर भारतीय सेना के जवान श्यामवीर सिंह पुत्र सत्य प्रकाश यादव, निवासी दादूपुर जलालपुर ने महिला मरीज को अपने प्लेटलेट्स डोनेट करने का मन बना लिया। वे समय गंवाए बिना सोमवार को रात में ही घर से अस्पताल की ओर निकल पड़े। रात 12.30 बजे श्यामवीर ने ट्रॉमा सेंटर पहुंच कर महिला मरीज को अपने प्लेटलेट‌्स दान किए। डाक्टर ने महिला को तत्काल प्लेटलेट‌्स चढ़ा दिए। इस तरह महिला की जान बच गई। मंगलवार को सुबह महिला ने पुत्र को जन्म दिया। अब महिला व उसका नवजात शिशु दोनों सुरक्षित हैं। परिजनों के अलावा सामाजिक संस्थाओं ने सेना के जवान के नेक कार्य की सराहना की है। एसए ब्लड डोनेशन क्लब के अध्यक्ष अमित गुप्ता ने कहा कि सेना के जवान की मानव सेवा की भावना सराहनीय है। ब्लड डोनेशन क्लब एवं भारतीय रेडक्रॉस सोसायटी ने सेना के जवान श्यामवीर के कार्य की तारीफ करते हुए उनके सुखद भविष्य की कामना की है।

मानव सेवा के लिए हर समय तैयार रहते है श्यामवीर

भारतीय सेना के जवान श्यामवीर इस समय छुट्टी पर अपने गांव आए हुए थे। उन्होंने बताया कि वे मानव सेवा के लिए हमेशा तैयार रहते हैं। श्यामवीर ने कहा कि पहले भी वे कई मरीजों को रक्त एवं प्लेटलेट्स दान कर चुके हैं। आगे भी किसी को जरूरत होने पर करते रहेंगे।

संबंधित खबरें