DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  फिरोजाबाद  ›  कोरोना से उपजे अवसाद से छात्रों को बचाने को रखे विचार
फिरोजाबाद

कोरोना से उपजे अवसाद से छात्रों को बचाने को रखे विचार

हिन्दुस्तान टीम,फिरोजाबादPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 05:10 PM
कोरोना से उपजे अवसाद से छात्रों को बचाने को रखे विचार

पालीवाल महाविद्यालय की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई द्वारा आयोजित सात दिवसीय पूर्व योग प्रशिक्षण कार्यक्रम के चौथे दिवस पर योग तथा अवसाद नामक विषय पर व्याख्यान हुआ।

आयोजक सचिव डॉ.एमपी सिंह ने बताया कि पिछले एक वर्ष से अधिक समय से सप्ताह में एक दिन मुस्कुराएगा इंडिया इनीशिएटिव के फिट इंडिया मूवमेंट के तहत भौतिक रूप से वॉलंटियर्स को योग सिखाया जा रहा है। मुख्य वक्ता लखनऊ से डॉ.रश्मि सोनी ने कहा कि योग और अवसाद दो अलग-अलग पहलू हैं परंतु अवसाद में पहुंच रहे युवाओं और व्यक्तियों के लिए योग ब्रह्मास्त्र के रूप में साबित होता है। प्रत्येक युवा को सुबह प्रातः काल सूर्योदय से पहले जो भी संभव समय निकाल सके, योग करना चाहिए। वर्तमान परिवेश में कोविड-19 महामारी के चलते अधिकांश लोग अवसाद के शिकार हो रहे हैं। उनकी नकारात्मकता की तरफ सोच बढ़ती ही जाती है जिसको प्राणायाम, आसन के द्वारा दूर किया जा सकता है। यह आवश्यक नहीं कि आप एक घंटे योग करें अपनी क्षमता के अनुसार और समय के अनुसार आप योग के लिए समय दे सकते हैं और अवसाद से मुक्ति पा सकते हैं। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्राचार्य डॉ.आरसी गुप्ता ने की एवं स्वागत किया कार्यक्रम में मुरादाबाद से डॉ. प्रेमलता, डॉ.मीनाक्षी शर्मा, डॉ.नमृता त्रिपाठी, डॉ.अशोक कुमार, नेहा यादव, अंशिका त्रिपाठी, प्रिया, ईश्वर, अमित, सौरभ, कृति शुक्ला, प्रियंका आदि लोगों ने विचार रखे। संचालन डॉ.तस्वीर उल हसन नकवी ने किया।

संबंधित खबरें