DA Image
20 सितम्बर, 2020|3:50|IST

अगली स्टोरी

सुहागनगरी में रही गणपति के विसर्जन की धूम

सुहागनगरी में रही गणपति के विसर्जन की धूम

1 / 4सुहाग नगरी में अनंत चतुर्दशी पर्व पर गणपति विसर्जन की धूम रही। भक्तों ने पूजा अर्चना के बाद गजानन को भावपूर्ण विदाई दी। श्रद्धालुओं ने गौरी पुत्र गणेश की मूर्तियों का नदी सरोवर में विसर्जन कर दिया।...

सुहागनगरी में रही गणपति के विसर्जन की धूम

2 / 4सुहाग नगरी में अनंत चतुर्दशी पर्व पर गणपति विसर्जन की धूम रही। भक्तों ने पूजा अर्चना के बाद गजानन को भावपूर्ण विदाई दी। श्रद्धालुओं ने गौरी पुत्र गणेश की मूर्तियों का नदी सरोवर में विसर्जन कर दिया।...

सुहागनगरी में रही गणपति के विसर्जन की धूम

3 / 4सुहाग नगरी में अनंत चतुर्दशी पर्व पर गणपति विसर्जन की धूम रही। भक्तों ने पूजा अर्चना के बाद गजानन को भावपूर्ण विदाई दी। श्रद्धालुओं ने गौरी पुत्र गणेश की मूर्तियों का नदी सरोवर में विसर्जन कर दिया।...

सुहागनगरी में रही गणपति के विसर्जन की धूम

4 / 4सुहाग नगरी में अनंत चतुर्दशी पर्व पर गणपति विसर्जन की धूम रही। भक्तों ने पूजा अर्चना के बाद गजानन को भावपूर्ण विदाई दी। श्रद्धालुओं ने गौरी पुत्र गणेश की मूर्तियों का नदी सरोवर में विसर्जन कर दिया।...

PreviousNext

सुहाग नगरी में अनंत चतुर्दशी पर्व पर गणपति विसर्जन की धूम रही। भक्तों ने पूजा अर्चना के बाद गजानन को भावपूर्ण विदाई दी। श्रद्धालुओं ने गौरी पुत्र गणेश की मूर्तियों का नदी सरोवर में विसर्जन कर दिया। इस दौरान गणपति बप्पा के जयकारे गूंजते रहे।

मंगलवार को सुबह होते ही गणपति के विसर्जन की तैयारियां शुरू हो गईं। श्रद्धालुओं ने गणेश चतुर्थी के दिन अपने-अपने घरों पर विराजमान किए गए गणपति की पूजा-अर्चना भक्तिभाव से की गजानन को बूंदी के लड्डू का भोग लगाया गया। भक्तिभाव से उनकी आरती की गई। तत्पश्चात श्रद्धालु गणेश जी की मूर्तियों के विसर्जन की तैयारी करने में जुट गए। शहर के गली मोहल्लों में श्रद्धालुओं ने भक्तिभाव से गणपति को विदाई दी। इस दौरान जमकर अबीर-गुलाल उड़ाया गया। बच्चे और शिवा एक दूसरे पर अबीर गुलाल की होली खेलते नजर आए। तत्पश्चात गणेश जी की मूर्ति को श्रद्धालु बाइक पर बैठाकर विसर्जन के लिए ले गए। अनेक श्रद्धालुओं ने अपने गणपति का यमुना नदी में इधर-उधर के रास्तों से ले जाकर विसर्जन कर दिया। वहीं अनेक श्रद्धालुओं ने शहर से बाहर ग्रामीण अंचल के तालाबों में गणपति की मूर्ति का विसर्जन किया।

श्रद्धालुओं ने गणपति से अगले बरस फिर से लौट कर आने की कामना की गई । विदाई वेला में अनेक श्रद्धालुओं की आंखें नम हो उठी। इस दौरान गणपति बप्पा मोरिया अगले बरस तू जल्दी आ के जयकारे गूंजते रहे।

इनसेट

ढोल नगाड़ों के साथ निकाली विसर्जन शोभायात्रा

मंगलवार को शहर के अनेक मोहल्लों में ढोल नगाड़ों के बीच गणपति की विसर्जन शोभायात्रा निकाली गई। जहां महिलाओं और लड़कियों ने जमकर नृत्य किया। हालांकि बाद में पुलिस के डर से गजानन को बाइक पर बिठाकर ही विसर्जन के लिए ले जाया गया।

इनसेट

ड्रम में पानी भरकर भी किया विसर्जन

शहर में अनेक श्रद्धालुओं ने लोहे या प्लास्टिक के ड्रम में पानी भरकर उसमें गणपति की मूर्तियों का विसर्जन किया। नगर के जलेसर रोड स्थित काली देवी मंदिर पर ड्रम में भरे पानी में कई गली-मोहल्लों से लाई गई गणेश जी की मूर्तियों का विसर्जन किया। काली देवी मंदिर पर मोहन नगर, शिव नगर और जलेश्वर रोड के अनेक श्रद्धालु अपनी-अपनी गणपति की मूर्तियों को ढोल नगाड़ों के बीच विसर्जन के लिए लेकर पहुंचे। जहां मंदिर पर रखे लोहे के ड्रम में मूर्तियों को विसर्जित किया गया। विसर्जन कार्यक्रम में नमन अग्रवाल, विपिन कुमार, अनुग्रह गोपाल, पिंकी अग्रवाल, संजय जोहरी, उमेश अग्रवाल, मधु अग्रवाल, मंजू जौहरी, बीना अग्रवाल आदि श्रद्धालुओं ने उत्साह के साथ भाग लिया।

फोटो-----2----महिलाएं गणपति के जयकारे और भजन गाती हुई काफी दूर से यमुना किनारे तक अपने गणपति को लेकर पहुंचीं।

फोटो कैप्शन 3---गणपति विसर्जन से पहले लोगों ने इस तरह से घर से परिजनों के साथ शोभायात्रा निकाली।

फोटो कैप्शन 4--युवतियां सिर पर रखकर गणपति को विसर्जन के लिए पैदल ही यमुना तक लेकर गईं।

फोटो कैप्शन 6---बाइक पर ही गणपति को रखकर परिजन यमुना किनारे लेकर गए ताकि पुलिस की बंदिश हो तो चुपके से विसर्जन दूसरे स्थानों से किया जा सके।

फोटो कैप्शन 7-----गणपति लेकर यमुना किनारे पहुंच रहे लोगों को पुलिस ने बीच रास्ते में रोककर वापस किया।

फोटो कैप्शन 8----यमुना में इन युवतियों को गणपति विर्सजन से रोका तो इन्होंने पास में ही बारिश का पानी भरे एक गड्ढे में विसर्जन किया।

फोटो कैप्शन 9----बाइक सवारों में गणपति विसर्जन को लेकर उत्साह साफ दिखाई दे रहा था।

फोटो कैप्शन 10- पानी के अंदर ले जाकर भक्तों से युवकों ने गणपति का विसर्जन कराया ताकि वे पानी में डूब सकें।

क्रासर

- अनंत चतुर्दशी पर भक्ति भाव से हुआ गजानन का विसर्जन

- गली मोहल्लों में बच्चों और युवाओं ने जमकर उड़ाया गुलाल

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Ganapati 39 s immersion in Suhaganagri celebrated