DA Image
22 अप्रैल, 2021|8:35|IST

अगली स्टोरी

डीएम को सीएमओ कार्यालय में 4 दर्जन कर्मचारी मिले गैरहाजिर

default image

फिरोजाबाद। जिलाधिकारी द्वारा मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय के किए गए औचक निरीक्षण के दौरान 4 दर्जन से अधिक अधिकारी कर्मचारी अनुपस्थित मिले। नियम ने अनुपस्थित अधिकारी एवं नियमित कर्मचारियों का एक दिन का वेतन काटने तथा संविदा कर्मियों का 1 माह का वेतन रोकने के निर्देश दिए। वहीं दिव्यांग प्रमाण पत्र जारी करने में लापरवाही सामने आने पर नोडल अधिकारी को प्रतिकूल प्रविष्टि जारी की।

जिलाधिकारी चंद्रविजय सिंह ने मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय का सोमवार को आकस्मिक निरीक्षण किया। कार्यालय में डिप्टी सीएमओ सहित कई जिम्मेदार चिकित्साधिकारी एवं कर्मचारी, संविदा कर्मी अनुपस्थित मिले। जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि अनुपस्थित अधिकारियों के एक दिन के वेतन की कटौती करते हुए उसका अंकन उनकी सेवा पुस्तिका में भी किया जाए तथा अनुपस्थित संविदा कर्मियों के माह फरवरी का वेतन आहरित न किया जाए। निरीक्षण के दौरान कोविड-19 के एक्टिव केस की जानकारी करने पर बताया गया कि एक्टिव केस 628 व क्लोज केस (8) है। कोविड-19 वैक्सीनेशन सेशन साइट एवं प्लान रिपोर्ट की जानकारी करने पर सीएमओ ने बताया कि 31 वैक्सीनेशन सेंटरों पर प्रथम डोज एवं द्वितीय डोज को मिलाकर 2828 निर्धारित किया गया है। उन्होंने कहा कि कोविड वैक्सीनेशन के लिए लक्ष्य को शत-प्रतिशत प्राप्त करने के लिए कार्ययोजना तैयार कर प्रभावी कार्रवाई की जाए।

निरीक्षण के दौरान उन्होंने कहा कि मुख्य चिकित्साधिकारी सुनिश्चित करें कि सभी कर्मचारी एवं अधिकारी समय से कार्यालय आएं तथा जन सामान्य के कार्यों को वरीयता से पूर्ण कर सरकारी कार्यों का निष्पादन समय से करें । जिससे जन सामान्य को अनावश्यक परेशान न होना पड़े। कार्यालय के प्रांगढ़ में उपस्थित सैंपलिंग मोबाइल टीम में कार्यरत आउट सोर्सिंग कर्मचारी द्वारा चार माह से मानदेय प्राप्त न होने की शिकायत पर उन्होंने कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए संबंधित को निर्देशित दिए कि तीन कार्यदिवस में भुगतान नहीं किया जाता है, तो संबंधित नोडल अधिकारी का वेतन रोका जाएगा। जिलाधिकारी द्वारा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का भी निरीक्षण किया। उन्होंने ओपीडी रजिस्टर पर दिनांक, समय, रोग व उसका विवरण स्पष्ट रूप से अंकित करने के निर्देश दिए। उन्होंने विकलांग प्रमाण पत्रों के लंबित प्रकरणों को शीघ्र ऑनलाइन कराकर प्रमाण जारी करने के मामले में लापरवाही बतरने पर नामित नोडल अधिकारी डॉ. माथुर को प्रतिकूल प्रविष्टी दिए जाने के निर्देश दिए।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:DM gets 4 dozen employees absent in CMO office