DA Image
27 नवंबर, 2020|2:23|IST

अगली स्टोरी

बेरोजगारों को बैंक लोन देने में हीलाहवाली पर डीएम खफा

default image

जनपद में रोजगार योजनाओं के तहत बेरोजगार युवाओं को स्वरोजगार के लिए बैंक लोन देने में बरती जा रही लापरवाही पर डीएम ने नाराजगी जताई है। हिन्दुस्तान की खबर के बाद उन्होंने इस संबंध में बैंक अधिकारियों को विभिन्न रोजगार योजनाओं के अंतर्गत चयनित हुए लाभार्थियों को तत्परता से स्वीकृत ऋण राशि उपलब्ध कराने के सख्त निर्देश दिए हैं। जिससे चयनित लाभार्थी अपनी स्वरोजगार की स्थापना शीघ्रता से कर सकें।

जनपद में केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा लागू की गई प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम, मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना एवं एक जनपद एक उत्पाद योजना का क्रियान्वयन उद्योग विभाग के माध्यम से किया जा रहा है। इन स्कीमों के अंतर्गत तहत टास्क फोर्स कमेटी द्वारा स्वीकृत लाभार्थियों के ऋण आवेदन पत्र जनपद की विभिन्न बैंक शाखाओं को भेजे गए हैं। बेरोजगारों के उपरोक्त स्वीकृत ऋण आवेदन पत्रों पर जिले की अधिकांश बैंक शाखाएं लाभार्थियों को स्वीकृत राशि देने से कतरा रही है। जिसके चलते बैंक शाखाओं में लाभार्थियों के आवेदन पत्र लंबित पड़े हुए हैं।

जिलाधिकारी चंद्रविजय सिंह इस मामले को गंभीरता से लिया है उन्होंने संबंधित बैंक अधिकारियों को इस संबंध में कड़ा पत्र लिखा है जो समस्त शाखा प्रबंधकों को भी यह पत्र भेजा गया है। डीएम ने बैंक अधिकारियों से कहा कि उपरोक्त रोजगार योजना भारत सरकार व उत्तर प्रदेश सरकार की शीर्ष प्राथमिकताओं में से एक हैं। जिसकी समीक्षा हर माह शासन स्तर पर उच्चाधिकारियों द्वारा की जा रही है। उन्होंने कहा कि उपायुक्त उद्योग द्वारा लाभार्थियों के ऋण आवेदन पत्र संबंधित बैंक शाखाओं को अग्रसारित कर दिए गए हैं। इसमें बड़ी संख्या में ऋण आवेदन पत्र बैंक शाखाओं में लंबित चल रहे हैं। जिनका निस्तारण नहीं किया है।

अनावश्यक आपत्तियां लगा रही बैंक शाखाएं

डीएम ने माना कि उनके संज्ञान में यह भी आया है कि अनेक बैंक शाखा में शाखा प्रबंधकों द्वारा अनावश्यक रूप से आपत्तियां लगाकर ऋण आवेदन पत्र जिला उद्योग केंद्र को वापस किए जा रहे हैं। डीएम ने कहा कि यह स्थिति अत्यंत असंतोष जनक है। उन्होंने कहा कि अधिक से अधिक बेरोजगार नवयुवकों को रोजगार दिलाए जाने के उद्देश्य ऋण स्वीकृत किए जाने हैं। उन्होंने कहा कि इन योजनाओं की समीक्षा अगले माह स्वयं उनके द्वारा की जाएगी ।

15 दिन में करें ऋण आवेदन पत्रों का निस्तारण

डीएम चंद्र विजय सिंह ने कहा है कि संबंधित बैंक शाखाएं 15 दिन के अंदर उपरोक्त योजना के तहत प्राप्त आवेदन पत्रों का निस्तारण करते हुए लाभार्थियों को ऋण स्वीकृत एवं वितरण की कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। उन्होंने यह भी कहा कि शाखा प्रबंधक अनावश्यक रूप से लाभार्थियों के ऋण आवेदन पत्रों पर आपत्तियां न लगाएं।

हिंदुस्तान ने प्रमुखता से उठाया था यह मामला

हाल ही में हिंदुस्तान अखबार ने बेरोजगारों को बैंक लोन देने में बढ़ती जा रही लापरवाही का मामला प्रमुखता से उठाया था। तत्पश्चात उद्योग विभाग और प्रशासन हरकत में आ गया। जिलाधिकारी चंद्र विजय सिंह तभी इस मामले को गंभीरता से लेते हुए बैंक अफसरों को पत्र भेजा है।

बोले उपायुक्त उद्योग...

रोजगार योजना के तहत चयनित लाभार्थियों को स्वीकृत ऋण हर हाल में बैंकों से दिलवाया जाएगा। इस संबंध में जिलाधिकारी ने बैंक अफसरों को पत्र भेजकर तत्परता से आवेदनों का निस्तारण किए जाने के निर्देश दिए हैं।

- अमरेश कुमार पांडे, उपायुक्त उद्योग

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:DM angry at Hailahwali for giving bank loan to unemployed