DA Image
31 अक्तूबर, 2020|7:13|IST

अगली स्टोरी

वेतन की मांग को धरना, एक सप्ताह के आश्वासन पर हटे

वेतन की मांग को धरना, एक सप्ताह के आश्वासन पर हटे

अपने वेतन की मांग को लेकर ठेका पंप कर्मचारियों द्वारा जलकल विभाग के सामने शुरू किए गए धरना-प्रदर्शन से हड़कंप मच गया। सूचना मिलते ही मौके पर नगर मजिस्ट्रेट कुंवर पंकज के अलावा जलकल विभाग के महाप्रबंधक भी पहुंच गए। हंगामे की सूचना पाकर काफी मात्रा में इलाका पुलिसबल में मौके पर पहुंच गया। महाप्रबंधक द्वारा समस्या का सात दिन के अंदर हल कराने का आश्वासन देते हुए धरना खत्म करा दिया।

धरना प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे पार्षद मुनेंद्र यादव ने बताया कि लगभग दो-ढाई महीने से वेतन न मिलने के कारण पंप कर्मचारियों के सामने भुखमरी की समस्या पैदा हो गई है। इस समस्या के लिए उन्होंने महापौर को दोषी बताया। उन्होंने कहा कि महापौर की तानाशाही के कारण यह समस्या पैदा हुई। इसी दौरान मौके पर पहुंचे जलकल विभाग के महाप्रबंधक रामबाबू ने समस्या को सुनते हुए कर्मचारियों को आश्वस्त किया कि उनकी इस समस्या का एक सप्ताह के अंदर निराकरण कर दिया जाएगा। इस मौके पर नगर मजिस्ट्रेट कुंवर पंकज ने भी धरना देते कर्मचारियों को समझाया। आश्वासन मिलते ही सभी पंप कर्मचारियों ने धरना खत्म कर दिया। धरने के समय मौके पर काफी संख्या में थाना उत्तर पुलिस मौजूद थी।

कार्रवाई की चेतावनी से सन्नाटा

नगर मजिस्ट्रेट द्वारा धारा 144 एवं चुनाव आचार संहिता का हवाला देकर जैसे ही पंप कर्मचारियों को 151 धारा के तहत कार्रवाई की चेतावनी दी तो पंप कर्मचारियों में सन्नाटा छा गया। बाद में नगर मजिस्ट्रेट द्वारा कोई भी कार्रवाई न करने का आश्वासन देते हुए कर्मचारियों के अंदर पैदा हुआ भय खत्म कर दिया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Demand for salary move away on one week assurance