DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › फिरोजाबाद › प्रबंध तंत्र ने प्रभाव में आते ही प्राचार्य को किया सस्पेंड
फिरोजाबाद

प्रबंध तंत्र ने प्रभाव में आते ही प्राचार्य को किया सस्पेंड

हिन्दुस्तान टीम,फिरोजाबादPublished By: Newswrap
Wed, 07 Jul 2021 07:01 PM
प्रबंध तंत्र ने प्रभाव में आते ही प्राचार्य को किया सस्पेंड

सीएल जैन डिग्री कॉलेज पिछले कुछ वर्षों से आपसी खींचतान के चलते चर्चाओं में है। प्राचार्य एवं प्रबंध तंत्र में सामंजस्य न होने के कारण विवाद के मामले शासन एवं न्यायालय तक पहुंचते रहे हैं। प्रबंध तंत्र ने प्रभाव में आते ही कार्यवाहक प्राचार्य डॉ.ऊषा सिंह को निलंबित कर वरिष्ठता में चौथे क्रमांक पर आने वाले प्राध्यापक को प्राचार्य का कार्यभार सौंप दिया है। जिससे प्राचार्य की कुर्सी का विवाद एक बार फिर सुर्खियों में है।

सीएल जैन डिग्री कॉलेज प्रबंध तंत्र कोरोना काल में पिछले एक वर्ष से अप्रूवल न मिलने के कारण कॉलेज का संचालन सिंगल हो रहा था। कुछ समय पूर्व प्रबंध तंत्र को अप्रूवल मिलने के पश्चात प्राचार्य की कुर्सी को लेकर चल रही खींचतान के बीच प्रबंध तंत्र द्वारा प्राचार्य की कुर्सी पर किसी अन्य प्राध्यापक को बैठाने की चर्चाएं शुरू हो गई थीं। महाविद्यालय प्रबंध तंत्र की दो दिन पूर्व हुई बैठक के दौरान प्राचार्य एवं प्रबंध तंत्र के पदाधिकारियों में कुछ मामलों को लेकर विवाद होने की चर्चाएं हैं। महा विद्यालय प्रबंध तंत्र ने प्राचार्य डॉ.ऊषा सिंह पर मनमाने ढंग से कार्य करने, सेल्फ फाइनेंस स्टाफ में से कुछ लोगों का भुगतान करने एवं शेष स्टाफ का भुगतान न करने तथा प्रबंधन तथा उच्चाधिकारियों के निर्देशों की अव्हेलना करने का आरोप लगाते कई माह बाद हुई बैठक में प्राचार्य डॉ.ऊषा सिंह को निलंबित कर वरिष्ठता में चौथे क्रमांक पर आने वाले डा.जीसी यादव को आगामी तीन माह के लिए प्राचार्य का कार्यभार सौंप दिया है। इसके चलते महा विद्यालय प्रबंध तंत्र एवं वरिष्ठ प्राध्यापकों के बीच एक बार फिर प्राचार्य की कुर्सी को लेकर खींचतान तेज होने की चर्चाएं शुरू हो गई हैं।

नियम विरुद्ध ढंग से किया निलंबन

फिरोजाबाद। सीएल जैन डिग्री कॉलेज में 2 दिन पूर्व तक प्राचार्य की कुर्सी पर आसीन रही डॉ.ऊषा सिंह का कहना है कि प्रबंध तंत्र द्वारा नियमों की अनदेखी करते हुए उनके निलंबन का पत्र जारी किया गया है। जबकि बगैर कुलपति के अनुमति के प्रबंध तंत्र उन्हें निलंबित नहीं कर सकता। उन्होंने कहा कि प्रबंध तंत्र मनमानी कर कॉलेज के माहौल को बिगाड़ने का प्रयास कर रहा है। निलंबित करने से पूर्व उन्हें कोई नोटिस भी नहीं दिया गया।

अनुशासनहीनता के चलते प्राचार्य को किया निलंबित

फिरोजाबाद। सीएल जैन डिग्री कॉलेज प्रबंध समिति के सचिव डॉ.एससी सिंह चौहान का कहना है कि प्राचार्य रहते हुए डॉ.ऊषा सिंह द्वारा मनमाने ढंग से कार्य किया। उन्होंने पिछले एक साल से सेल्फ फाइनेंस के चार अध्यापकों का वेतन नहीं निकाला। बार-बार मना किए जाने के बाद भी कुछ प्राध्यापकों का उत्पीड़न करना जारी रखा। इसके चलते क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी द्वारा भी उनके खिलाफ डायरेक्टर उच्च शिक्षा को लिखा है। उन्होंने कहा कि प्राचार्य को दिए गए निलंबन पत्र में सभी बिंदुओं को पुनः खोल दिया है। प्रबंध तंत्र सचिव डॉ.सिंह ने कहा कि प्राचार्य रहते हुए डॉ.ऊषा सिंह द्वारा की गई अनियमितता की भी कमेटी द्वारा जांच की जा रही है।

संबंधित खबरें