DA Image
28 सितम्बर, 2020|1:50|IST

अगली स्टोरी

सड़क निर्माण की मांग को लेकर ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन

सड़क निर्माण की मांग को लेकर ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन

नहर पटरी से थुरियानी से लेकर मददअलीपुर तक पूर्व में ग्रामीणों की सुविधाओं को देखते हुए पत्थर डलवाने का काम किया गया था। जिसके कई साल बाद बहियापुर तक डामरीकरण का काम कराया गया था। इसके बाद भी थुरियानी के ग्रामीण सड़क निर्माण न होने का दंश झेल रहे है। वर्तमान में कराए जा रहे मार्ग निर्माण के बावजूद गांव तक निर्माण न कराए जाने को लेकर बुधवार को मांग करते हुए ग्रामीणों ने प्रदर्शन करके मार्ग निर्माण के लिए आवाज बुलंद की।

बताते है कि क्षेत्र के थुरियानी से मददअलीपुर तक सुजानपुर रजबहा की पटरी किनारे वाली सड़क पर करीब पांच किलोमीटर तक वर्ष1987 में पीडब्ल्यूडी द्वारा पत्थर डाले गए थे। जिसके बाद काम बंद कर दिया गया था, हालांकि बाद में मददअलीपुर से बहियापुर तक डामरीकरण कराया गया। लेकिन दर्जनों गांव मंे अभी भी पत्थर पड़े हुए है, जिससे ग्रामीण बदहाल सड़क से निकलने पर मजबूर है। इसके साथ ही यदि कोई बीमार हो जाए तो कई गांव तक एंबुलेंस भी नहीं पहुंच पाती जिसको लेकर ग्रामीणों में रोष व्याप्त है। सड़क की मांग को लेकर बहियापुर, शिवप्रसाद का डेरा, पतरियन डेरा, रघुवर का डेरा, पासिन डेरा आदि गांव के ग्रामीणों ने कई बार क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों से सड़क बनवाए जाने की मांग की लेकिन कोई सुनवाई न होने से सड़क जस की तस अवस्था में पड़ी हुई है। ग्रामीण धर्मेंद्र दीक्षित, रामलाल पासवान, सागर निषाद, सनी निषाद, परमेश निषाद, राजेश दीक्षित, मिथलेश पासवान ने आरोप लगाया कि पीडब्लूडी द्वारा ने इण्टर लाकिंग रोड को तोड़कर शिवप्रसाद का डेरा के पास सड़क निर्माण कराया जा रहा है। इसके बाद भी महज पांच सौ मीटर का निर्माण नहीं कराया जा रहा जिससे कई गांव के लोगों की परेशानी कम नहीं होगी।

कोट........

250 से अधिक आबादी वाली अनजुड़ी बसावटों का काम थुरियानी से शिवप्रसाद का डेरा तक डेढ किलोमीटर का काम 59 लाख की लागत से कराया जा रहा है। जिसके चलते आगे का मार्ग नहीं जोड़ा जा सकता।

रधुनंदन सिंह जेई पीडब्लूडी

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Villagers demonstrated on the demand for road construction