DA Image
28 अक्तूबर, 2020|5:25|IST

अगली स्टोरी

दो साल से लेनदेन को लेकर थी खूनी रंजिश

दो साल से लेनदेन को लेकर थी खूनी रंजिश

दरवेशाबाद ने लेनदेन को लेकर पिछले दो साल से खून रंजिश चल ही है। एक साल पहले भी मृतक और उसके भाई पर जानलेवा हमले की घटना हो चुकी है। मामले में आरोपित जेल भी जा चुके हैं। जिसके बाद से रंजिश को नई धार मिली और आरोपितों ने प्रेमशंकर के हत्या करने की ठान ली और बीती रात उसे अंजाम तक पहुंचा दिया। घटना के बाद गांव में तनाव का माहौल है। जिसे देखते हुए फोर्स की तैनाती की गई है।

वर्ष 2018 में प्रेमशंकर ने गांव के ही दिनेश को मकान में छत डलवाने के लिए कुछ रूपए उधार दिए थे। लगभग छह माह बाद जब पैसे वापस मांगे तो पैसे देने में आनाकानी करने पर दोनों पक्षो में विवाद शुरू हो गया था। यह विवाद और बढ़ता गया। जिसका नतीजा रहा कि वर्ष 2019 अक्टूबर माह में आरोपी दिनेश व उसके कुछ साथियों ने मिलकर मृतक प्रेमशंकर व उसके बड़े भाई महेन्द्र पर तमंचे से फॉयर कर दिया था। जिससे गोली महेन्द्र के दाहिने पैर में लगी और वह मौके से भाग निकला तो आरोपियों ने मृतक प्रेमशंकर पर फरसे से हमला कर खून से लथपथ कर दिया था। जिस पर आरोपियों के खिलाफ हत्या के प्रयास का मुकदमा भी दर्ज हुआ था और आरोपी जेल चले गए थे। तब से दोनों पक्षों के बीच गहरी दुश्मनी हो गई थी और आज उसी दुश्मनी का परिणाम है कि प्रेमशंकर को अपनी जान गंवानी पड़ी।

शव को उठाने से पहले आरोपियों को करें गिरफ्तार

बीती रात लगभग दो बजे प्रेमशंकर की गोली मारकर हत्या की जानकारी जैसे ही पुलिस को हुई तो पुलिस मौके पर पहुंच गई और शव का पंचनामा करने का प्रयास किया तो परिजनो समेत ग्रामीणो ने पुलिस पर ही आरोप लगाना शुरू कर दिया कि हत्या के आरोपी गांव में घूम रहे है। जब तक गिरफ्तारी नही होगी हम शव को उठाने नही देंगे। तब तक अन्य थानो से भी पुलिस बल मौके पर पहुंच गया और परिजनो को समझा बुझाकर शांत करते हुए शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। हालांकि आरोपियो की तलाश पुलिस ने फौरन शुरू कर दी पर कोई भी आरोपी हाथ नही लगा।

एसपी व एएसपी ने कार्रवाई का दिया आश्वासन

घटना की जानकारी रात्रि लगभग तीन बजे जैसे ही अपर पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार को हुई तो वह भी मौके पर पहुंच गए और परिजनों से विस्तारपूर्वक जानकारी लेने के बाद उन्हें आश्वासन दिया कि हर हाल में हत्या के आरोपियो के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। सुबह लगभग आठ बजे पुलिस अधीक्षक प्रशांत वर्मा भी दरवेशाबाद गांव घटना स्थल पहुंचे और मामले की तहकीकात कर फरार सभी आरोपियो के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के सख्त निर्देश दिए है।

फॉरेंसिक टीम ने लिए सैम्पल

मौके पर पहुंची फॉरेंसिक टीम ने घटनास्थल का मुआयना कर सैम्पल लिए। साथ ही जहां से परिजनों ने बताया था कि आरोपी किधर से आए और कहां गए है। उन सभी संदिग्ध स्थानों की जांच कर वहां से भी नमूने भरे है।

ग्रामीणों ने सुनी गोली की आवाज

दरवेशाबाद गांव में बीती रात प्रेमशंकर की गोली मारकर की गई हत्या के मामले में ग्रामीणों की माने तो गोली की आवाज तो सभी ने सुनी पर कोई स्पष्ट यह तक नहीं बता पा रहा था कि घटना को अंजाम देने वाले आरोपी किधर से आए थे और किधर भागकर गए है। जबकि परिजनों का आरोप है कि घर के पीछे से दीवार के किनारे किनारे आकर घटना को अंजाम दिया है और उसी रास्ते वापस भी गए है। परिजनो ने बताया कि बरसात होने के कारण आरोपियो के पैरो के निशान भी मौके पर मिले है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:There was bloody rivalry for the transaction for two years