DA Image
27 नवंबर, 2020|11:05|IST

अगली स्टोरी

कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आने पर होगी टीबी की जांच

कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आने पर होगी टीबी की जांच

जिले के जो रोगी कोरोना की जांच में निगेटिव पाए गए हैं, उनमें से कुछ को चिन्हित कर क्षय रोग (टीबी) की जांच करायी जाएगी। इस सम्बन्ध में शासन की ओर से जिला क्षय रोग अधिकारियों को आदेश जारी किया गया है। इसमें जिला सर्विलांस अधिकारी को जिला क्षय रोग विभाग को सूची उपलब्ध करानी होगी। इसके बाद उनमें से ऐसे संदिग्धों की छटनी की जाएगी जो खांसी या दमा सम्बन्धी बीमारी से पीड़ित होंगे।

जिम्मेदारों की मानें तो कोरोना और क्षय रोग के कई लक्षण एक समान होते हैं। शासन के अनुसार जिले में चिन्हित सीवियर एक्यूट रेस्परेटरी इलनेस (एसएआरआई) के और इंफ्लूएंजा लाइक इलनेस (आईएलआई) के तमाम रोगी कोरोना जांच में निगेटिव पाए गए हैं। इनमें कई संभावित क्षय रोगी भी हो सकते हैं जिनकी जनपद स्तर पर टीबी की जांच कराना जरूरी है। जनपद के कोरोना प्रभारी डा. केके श्रीवास्तव ने बताया कि शासन की ओर से कहा गया है कि एसएआरआई के निगेटिव रिपोर्ट वालों की सूची हर सप्ताह जिला सर्विलांस अधिकारी से लेकर रोगियों की बलगम की सीबीनाट से क्षय रोग की जांच करायी जाए। जरूरत पड़ने पर चेस्ट एक्स-रे व अन्य जांच भी कराई जा सकती है। इसके अलावा आईएलआई के जिन मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव आई है उनके घर सम्बंधित टीबी यूनिट के कर्मचारियों द्वारा भ्रमण कर मौजूदा समय में क्षय रोग के लक्षण (बुखार, खांसी, वजन कम होना, पसीना आना) की जानकारी प्राप्त की जाए । क्षय रोगी से कान्टेक्ट हिस्ट्री पाए जाने की दशा में उनके बलगम की सीबीनाट जांच व अन्य जरूरी जांच कराई जाएंगी। जांच में जिनमें भी क्षय रोग की पुष्टि होती है, उनका ब्यौरा निक्षय पोर्टल पर पंजीकृत किया जाएगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:TB investigation will be done when Corona report comes negative