DA Image
1 दिसंबर, 2020|10:40|IST

अगली स्टोरी

घर पर रहें, एक्सरसाइज करें, स्वस्थ्य रहें

घर पर रहें, एक्सरसाइज करें, स्वस्थ्य रहें

कोरोना वायरस की वजह से लोग बाहर नहीं निकल रहे हैं। अस्पतालों में भी लाकडाउन से पहले वाला जमावड़ा अब नहीं है। इमरजेंसी केस ही पहुंच रहे हैं। इस वजह से आपके अपने हिन्दुस्तान अखबार में फोन पर ही हर गुरुवार को मोबाइल पर मरीजों की समस्याओं पर डाक्टर से परामर्श का अभियान चला रखा है। इस बार अपना क्लीनिक चलाने वाले फिजियोथेरेपिस्ट डा. निर्भय पटेल ने निशुल्क परामर्श दिया। दर्जन भर से अधिक आईं फोन काल में ज्यादातर समस्याएं सर्वाइकल पेन और जोड़ों के दर्द से जुड़ी रहीं। जिनका उपचार उन्होंने सहज तरीके से बताया।

सवाल:

18 साल से सर्वाइकल की दिक्कत है। दाहिनी तरफ कंधे से नीचे दर्द बना रहता है। काफी दवा कराई राहत नहीं मिली।

सुनीता सिंह, राधा नगर

सलाह:

नसों में दबाव लग रहा है। फिजियोथेरेपी की मदद ले आराम मिलेगा। पूर्व में जो भी जांचें कराईं हैं या एमआरआई कराई है, एक बार दिखा दें। इसके बाद आगे का ट्रीटमेंट शुरू करें।

सवाल:

पिछले 15 दिन से पूरे शरीर में दर्द बना रहता है, कमजोरी और थकान सी लगती है। क्या करें?

आशीष, बहुआ

सलाह:

अधिक दर्द रहने पर पेनकिलर एक या दो दिन तक ले सकते हैं। इसके बाद भी अगर राहत नहीं मिलती तो किसी फिजीशियन को दिखा लें। रोजाना सुबह अंकुरित चना खाएं जिससे कमजोरी दूर होगी। प्रोटीन डाइट अधिक से अधिक लें।

सवाल:

मां को डेढ़ साल पहले पैरालेसिस अटैक पड़ा था। इसके बाद चेहरा तो ठीक है लेकिन हाथ-पैर सही से काम नहीं करते।

नीरज, कीर्तिखेड़ा

सलाह:

हाथ-पैर काम न करना बढ़ती उम्र के कारण भी हो सकता है। फिजियोथेरेपी का सहारा लें, काफी हद तक आराम मिलेगा। हाथ में मुलायम गेंद दें और दिन में तीन बार दस-दस सेकेंड तक उसे दबाएं, यह प्रक्रिया कम से कम 50 बार करें। एक्सरसाइज से ही शरीर में पावर आएगी।

सवाल:

पैरों की गांठ में दर्द बना रहता है। उठने-बैठने में दिक्कत होती है। पलथी मारकर बैठ जाने के बाद उठने में काफी समस्या होती है।

चन्द्रपाल सिंह, सहिली

सलाह:

एक चम्मच सरसों के तेल को गुनगुनाकर गांठों में मालिश करें। एक्सरसाइज करें। अगर मार्निंग वाक में जाते हैं तो पांच से दस मिनट तक ही टहले। घुटने में तकिया लगाकर दस-दस बार दबाएं और यह प्रक्रिया दिन में दो बार तो जरूर ही करें। इससे आराम मिलेगा।

सवाल:

चार साल पहले नाले में पैर चला गया था। तभी से जांघ के पास नस में दर्द रहता है। भारी वजन उठाने में दर्द बढ़ जाता है। झुनझुनाहट भी रहती है।

प्रदीप सिंह, बिन्दकी

सलाह:

सीधे लेटकर दोनों घुटनों के बीच मोटी तकिया लगा लें। इसके बाद घुटनों से ही तकिया को दबाएं। दबाने पर दस सेकेंड के लिए होल्ड करें और फिर छोड़े। इसके बाद 30 डिग्री पर एक-एक पैर को दाएं-बाएं करें। आराम मिलेगा। अधिक दिक्कत होने पर आकर दिखाएं।

घर पर ही रहकर करें एक्सरसाइज

-शरीर की मांसपेशियों में लोच बनी रहे, इसके लिए नियमित तौर पर स्ट्रेचिंग करना बेहद जरूरी है।

-गर्दन, पीठ, छाती, पेट, साइड, हाथ, पैरों और कूल्हों की मांसपेशियों की स्ट्रैचिंग करें।

-एरोबिक में सबसे अच्छा व्यायाम है सैर। यह हार्ट रेट को सामान्य बनाए रखने और मांसपेशियों को मजबूत बनाने में मदद करता है।

-पीठ के बल लेटकर 10 मिनट तक हवा में साइकिलिंग करें। इससे जोड़ों पर कम दबाव पड़ता है।

-योग और प्राणायाम अपने आप में संपूर्ण व्यायाम है। इसमें एक साथ स्ट्रैचिंग और मसल बिल्डिंग कर सकते हैं।

-प्राणायाम में कपालभाति, अनुलोम-विलोम, भ्रामरी प्राणायाम और प्रणव नाद प्राणायाम तनाव को कम करने में मदद करेंगे।