DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  फतेहपुर  ›  दोआबा में राहत, 19 नए संक्रमित मिले

फतेहपुरदोआबा में राहत, 19 नए संक्रमित मिले

हिन्दुस्तान टीम,फतेहपुरPublished By: Newswrap
Mon, 10 May 2021 10:42 PM
दोआबा में राहत, 19 नए संक्रमित मिले

फतेहपुर। संवाददाता

कोरोना वायरस का प्रकोप एक बार फिर धीरे-धीरे कम होने लगा है लेकिन खतरा अभी भी टला नहीं है। पिछले दस दिनों से संक्रमित मरीजों की संख्या में काफी कमी देखी जा रही है। सोमवार को आई रिपोर्ट के बाद एक बार फिर से कुछ राहत मिली है। जनपद में अलग-अलग स्थानों में 19 मरीज मिले हैं।

जनपद के लिए सोमवार को कानपुर मेडिकल कालेज से आई रिपोर्ट के बाद लोगों ने राहत की सांस ली है। जिले में कोरोना वायरस से ग्रसित एक बार फिर काफी कम संख्या सामने आई है। रिपोर्ट में 19 पाजिटिव केस सामने आए हैं। इतनी संख्या में पाजिटिव मरीज सामने आने से प्रशासन ने राहत की सांस ली है। आमजन से लेकर प्रशासनिक अधिकारियों में कुछ राहत मिली है। बता दें कि पिछले पखवारे भर से सैकड़ा का आंकड़ा पार कर रहा था लेकिन दस दिनों से संक्रमितों की संख्या कम आने के बाद लोग राहत की सांस ले रहे हैं। जिले में अब तक 6246 लोग संक्रमित हो चुके हैं। जिसमें 34 सौ से अधिक लोग ठीक होकर घर चले गए हैं। साथ ही अब एक्टिव केसों का आंकड़ा भी पांच सैकड़ा से नीचे आ चुका है। डीएम अपूर्वा दुबे ने सम्बन्धित क्षेत्र से जुड़े अधिकारियों को दिशा-निर्देश दे दिए। वहीं लोगों से अपील की है कि लोग बिना जरूरी काम के घर से न निकलें। घर से निकलते समय मास्क का प्रयोग जरूर करें।

795 लोगों ने लगवाई कोरोना की वैक्सीन

फतेहपुर। जिले में कोरोना की चेन तोड़ने के लिए वैक्सीनेशन का कार्य चल रहा है। सोमवार को जिले के 14 केन्द्रों के 30 बूथों पर टीकाकरण अभियान चला। कुल 795 लोग टीकाकरण के लिए बूथों तक पहुंचे। जानकारी देते हुए जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. इस्तियाक अहमद ने बताया कि सोमवार को अलग-अलग केन्द्रों के 30 बूथों पर वैक्सीनेशन का कार्य चला। हालांकि लोग वैक्सीनेशन के लिए कम पहुंच रहे हैं। लेकिन आशा बहुओं को गांव-गांव में जागरुकता फैलाने और लोगों को टीकाकरण के लिए केन्द्रों तक भेजने के लिए निर्देशित किया जा चुका है।

सीवीओ की कोरोना से मौत

फतेहपुर। जनपद के मुख्य पशुचिकित्सा अधिकारी डा. राजेन्द्र कुमार शर्मा का कोरोना संक्रमण के चलते सोमवार सुबह जयपुर में इलाज के दौरान निधन हो गया। बताया जा रहा है कि 17 अप्रैल को उनको बुख़ार व खांसी आया था। 19 अप्रैल को जब कोविड एंटीजेन टेस्ट किया गया तो उनकी रिपोर्ट पाजिटिव आई थी। उन्हें लगातार सांस लेने में तकलीफ हो रही थी। वह किसी तरह नोएडा स्थित अपने घर चलेग एथे। जहां दिक्कत बढ़ने पर परिजनों ने उन्हें जयपुर में भर्ती कराया था। जहां सोमवार सुबह उन्होंने अंतिम संास ली। मामले की जानकारी कार्यालय पहुंची तो शोक की लहर दौड़ गई।

संबंधित खबरें