DA Image
21 सितम्बर, 2020|9:56|IST

अगली स्टोरी

कोरोनाकाल में जमा पूंजी निकाल लोग चला रहे खर्च

कोरोनाकाल में जमा पूंजी निकाल लोग चला रहे खर्च

कोरोनाकाल में आय पर संकट आने से लोगों को घर का खर्च चलाना भारी पड़ रहा है। बड़ी संख्या में लोग बैंकों में जमा पूंजी निकाल कर गृहस्थी चलाने पर मजबूर हैं। जिससे निकासी करने वालों की भीड़ बैंकों में बढ़ रही है। निकासी करने वालों में जनधन खाते के साथ ही अन्य खाताधारक शामिल है। बैंक अफसरों के मुताबिक जमा की अपेक्षा निकासी करने वालों की संख्या में करीब तीस प्रतिशत का इजाफा हुआ है।

गरीब व मध्यमवर्गीय कर रहे अधिक निकासी

कोरोना काल में बंद हुए काम धंधे के बाद गरीब व मध्यमवर्गीय लोगों की कमर ही टूट गई थी। जिसके चलते बैंकों में धन निकासी के लिए इन्ही लोगों की भीड़ लगी दिखाई देती है। बेरोजगारी के दौर से गुजर रहे लोगों के साथ ही प्रवासी कामगार अपनी जमा पूंजी को बैंक से निकाल रहे है। जिसकी वजह से निकासी अधिक हो रही है।

तीस प्रतिशत हो रही अधिक निकासी

महामारी के दौर से गुजर रहे लोगों को जमा पूंजी का ही सहारा है, जिसके चलते लोग जमापूंजी को विभिन्न बैंको से निकालकर पेट की आग शांत कर रहे है। बताते है कि बाजार तो खुल चुके है लेकिन बाजारों में रौनक न होने के चलते लोग पैसा जमा नहीं कर पा रहे तथा अपने खाते से निकाल कर ही पेट की आग को शांत कर रहे है।

पूर्व में जमा होता था अधिक निकासी होती कम

विभिन्न बैंको के अधिकारियों की मानें तो पूर्व में निकासी की अपेक्षा लोग पूंजी अधिक जमा करते थे। जिससे बैंक का टर्न ओवर सुचारू रूप से चल रहा था। लेकिन कोरोना काल में जमा की अपेक्षा निकासी अधिक हो रही है। हालांकि अधिकारियों का कहना है कि लेन देन करनें में किसी प्रकार की समस्या नहीं आ रही सब कुछ मैनेज चल रहा है।

कोटयय

क्या बोले बैंको के अधिकारी

एसबीआई के चीफ मैनेजर राजेश कुमार नें बताया कि वर्तमान में सब कुछ बैलेंस चल रहा है जमा निकासी में कोई खास प्रभाव नहीं है। बैंक ऑफ बड़ौदा के मैनेजर प्रेम सिंह का कहना है कि प्रतिदिन करीब 60 से 80 लाख रुपए जमा होने के सापेक्ष सवा करोड़ के आसपास निकासी हो रही है। एचडीएफसी के मैनेजर मो. इकबाल खान कहते है कि लोग फिक्स डिपॉजिट कम कर रहे है, साथ ही पूर्व की अपेक्षा जमा के सापेक्ष निकासी करीब 25 प्रतिशत अधिक हो रही है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:People are running out the money deposited in the coronary period