DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  फतेहपुर  ›  संक्रमित होने के बाद भी काम के प्रति नहीं डिगे नरेन्द्र
फतेहपुर

संक्रमित होने के बाद भी काम के प्रति नहीं डिगे नरेन्द्र

हिन्दुस्तान टीम,फतेहपुरPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 05:51 AM
संक्रमित होने के बाद भी काम के प्रति नहीं डिगे नरेन्द्र

फतेहपुर। संवाददाता

साल भर पहले कोरोना वायरस के आने की भनक लगते ही अपनी जिम्मेदारियों का अहसास होना शुरू हो गया था। वायरस की भयावहता इतनी थी कि लोग घरों में दुबकना शुरू कर दिए थे। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग की एक अहम यूनिट आईडीएसपी जहां जनपद की सभी बीमारियों का ब्यौरा एकत्र करना होता है। यहां तैनात नरेन्द्र पाल का काम था जिले के बीमार या संक्रमित लोगों का ब्यौरा इकट्ठा करना। सुबह नौ बजे कार्यालय पहुंचना और देर रात कितने बजे कार्यालय से छूटना है इसका उन्हें भी नहीं पता था। लगातार दिनभर लोगों के सम्पर्क में आना और ऐसे में खुद के साथ परिवार को भी कोरोना से सुरक्षित रखना चुनौतियों से भरा था। रात-रात भर काम करने के बाद भोरपहर तीन-चार बजे कार्यालय से घर जाना और घंटे दो घंटे की नींद के बाद फिर से कार्यालय पहुंचना बेहद कठिन था। लेकिन नरेन्द्र पाल ने अपनी जिम्मेदारियों को बाखूबी निभाया, इसमें कोई दो-राय नहीं है। वह बताते हैं कि अगस्त माह में वह खुद संक्रमित हो गए थे, ऐसे में घर में मासूम बिटिया और परिवार से दूर रहने का दर्द जरूर रहा लेकिन काम के प्रति जरा भी कोताही नहीं बरती।

संबंधित खबरें