DA Image
1 मार्च, 2021|7:12|IST

अगली स्टोरी

नाबालिग से रेप में 15 साल की सजा

नाबालिग से रेप में 15 साल की सजा

फतेहपुर। कार्यालय संवाददाता

नाबालिग से रेप के मामले में मंगलवार को अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश/पास्को कोर्ट प्रथम रवीकांत की अदालत ने फैसला सुनाया है। कोर्ट ने आरोपी को 15 साल कठोर सजा और 12 हजार रुपए जुर्माना अदा करने का आदेश दिया है। अर्थदंड की आधी रकम पीड़िता को प्रतिकर के रूप में दी जाएगी।

सुल्तानपुर घोष थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी दंपति ईंट भट्ठा में काम करते थे। 5 जून 2016 को दंपति काम कर गए थे, घर में नाबालिग बेटी अकेली थी। देर रात रामदीन छत के रास्ते में घर में घुसा और सो रही बच्ची के साथ जबरन रेप किया। सुबह दंपति के आने पर बच्ची ने जानकारी दी। पिता ने आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस आरोपी को गिरफ्तार पर जेल भेजते हुए उसके खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया था। मुकदमे की सुनवाई के दौरान पीड़िता समेत आधा दर्जन से अधिक लोगों ने गवाही दी। जिस पर शासकीय अधिवक्ता देवेश श्रीवास्तव और बचाव पक्ष के वकील ने जिरह कर अपनी दलीलें पेश की। प्रस्तुत किए तर्को एवं साक्ष्यों के आधार पर अदालत ने आरोपी को घटना का दोषी ठहराते हुए फैसला सुनाया है।

वहीं बच्ची से दुष्कर्म के एक मामले में अपर सत्र न्यायाधीश पारुल श्रीवास्तव की अदालत ने सोमवार को फैसला सुनाया है। कोर्ट ने आरोपी को 14 साल की सजा और 10 हजार रुपए जुर्माना अदा करने का आदेश दिया है। मामला असोथर थाना क्षेत्र के एक गांव है। 23 अगस्त 2014 को गांव के ही आरोपी रामबाबू ने बच्ची को बहला फुसला कर साथ ले गया जहां उसने उसके साथ दुष्कर्म किया। पिता ने आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। मुकदमें की सुनवाई के दौरान आठ गवाहों ने बयान दर्ज कराया जिस पर शासकीय और बचाव अधिवक्ता ने जिरह कर अपना पक्ष रखा। गवाहों के बयान और साक्ष्यों के आधार पर कोर्ट ने आरोपी को घटना का दोषी ठहराते हुए फैसला सुनाया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Minor sentenced to 15 years for rape