DA Image
25 सितम्बर, 2020|3:26|IST

अगली स्टोरी

लॉकडाउन में शादी, बाराती सिर्फ चार

लॉकडाउन में शादी, बाराती सिर्फ चार

शादी है तो क्या हुआ, देश में आए कोरोना जैसे संकट में किए गए लॉकडाउन का पालन तो करना ही है। क्षेत्र के एक गांव में मात्र चार बारातियों के बीच युवती ने सात फेरे लिए। वहीं वधू पक्ष से भी माता-पिता समेत चार लोग ही शामिल रहे।

मामला ब्लॉक क्षेत्र के परेठी गांव का है। आशा पुत्री धनपत की शादी राजू पुत्र सुरजबली पासवान निवासी दादानगर कानपुर से एक मई 2020 को पहले से तय थी। जिनकी गोद भराई भी जनवरी माह हो चुकी थी। धूमधाम से शादी करने के लिए दोनों पक्ष तैयारियों में जुटे थे। कोरोना का कहर उनकी शादी में ग्रहण बनता नजर आया। लॉकडाउन घोषित होते ही सब कुछ ठहर सा गया। लोगों को समझ नहीं आ रहा था कि विवाह कैसे पूरा हो। ऐसे में तय तारीख में शादी करने के लिए लड़का पक्ष ने प्रशासन से चार लोगों को शामिल होने की अनुमति ली और शुक्रवार को दूल्हा राजू भाई मनोज पासवान एवं कार चालक के साथ गांव पहुंचे। जहां पूरे रीति रिवाजों के साथ शादी सम्पन कराई गई। वहीं दुल्हन पक्ष से दुल्हन आशा देवी, बहन सुनीता, पिता धनपत, भाई व भाभी रहीं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Married in lockdown only four married