DA Image
22 सितम्बर, 2020|1:00|IST

अगली स्टोरी

बिजली किल्लत से किसान परेशान, संविदा कर्मी कर रहे उगाही

बिजली किल्लत से किसान परेशान, संविदा कर्मी कर रहे उगाही

बिजली समस्या से परेशान तीन गांवों के सैकड़ों लोगों का सब्र टूट गया। ग्रामीणों ने तहसील में प्रदर्शन कर बिजली किल्लत से हो रही समस्याओं को अफसरों से सामने रखते हुए समधान किए जाने की मांग की। उन्होंने फाल्ट ठीक करने के नाम पर संविदा कर्मियों पर उगाही करने का आरोप लगाया।

मलवां ब्लाक के जनता. गौसपुर तथा सुमेरपुर के लगभग एक सैकड़ा किसान व नलकूप संचालक सोमवार को तहसील परिसर पहुंचे। उन्होंने तहसीलदार को बताया कि वर्तमान समय में बिजली आपूर्ति मात्र दो से तीन घंटे मिल पा रही है। जिसके कारण मौजूदा धान की फसल को पर्याप्त पानी नहीं मिल पा रहा और फसल सूख रही है। किसानों ने कम से कम 18 घंटे विद्युत आपूर्ति दिए जाने की मांग की। आरोप लगाया कि गांव में आए दिन बिजली की फॉल्ट होती रहती है। फॉल्ट सुधारने के नाम पर किसानो, ग्रामीणों तथा नलकूप स्वामियों से विद्युत विभाग के संविदा कर्मी धन वसूली का कार्य करते है। पैसा देने पर इंकार किया जाता है तो अपशब्द भाषा का प्रयोग करते है। बताया कि कभी कबार तो विद्युत फॉल्ट जानबूझकर कर दी जाती है। ताकि सुधारने के नाम पर दोबारा पैसा वसूली की जा सके। किसानो का ज्ञापन लेते हुए तहसीलदार ने ग्रामीणो तथा नलकूप मालिकों को आश्वासन दिया कि जल्द उनकी समस्या का निराकरण कराया जाएगा। आपूर्ति व्यवस्था दुरूस्त कराई जाएगी और धन वसूली करने पर कर्मियो के खिलाफ कार्रवाई किए जाने का भी आश्वासन दिया। इस मौके पर अनुज शुक्ला, आशुतोष शुक्ला, विजय कुमार चौरसिया, आशु शुक्ला, शिवनंदन, नरेन्द्र पाल, सुग्रीव, शिवप्रसाद, चंद्रिका प्रसाद, कमलेश, जगतपाल, रामबाबू, संजय यादव, गया सिंह, हरिश्चंद्र, संग्राम सिंह, विनोद चौरसिया, सूरजभान, विश्वनाथ, ज्ञानसिंह, श्रीपाल सहित तमाम किसान नलकूप स्वामी मौजूद रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Farmers upset due to power shortage contract workers are extorting