DA Image
24 जनवरी, 2021|11:48|IST

अगली स्टोरी

नए साल पर दोआबा के विकास को लगेंगे पंख

नए साल पर दोआबा के विकास को लगेंगे पंख

फतेहपुर। कार्यालय संवाददाता

नए साल में दोआबा के विकास को पंख लगने की उम्मीद है। शिक्षा, आवागमन, स्वास्थ्य, खेतीबाड़ी और रोजगार के अवसर मिलेंगे। शहर का कायाकल्प होने से शहरियों को राहत मिलने की उम्मीद है। बाईपास का संचालन शुरू होने से ट्रैफिक व्यवस्था में सुधार, अधूरे नालों का निर्माण पूर्ण होने और गांव में शुद्ध पीने के पानी मुहैया कराने की दिशा में कदम बढ़ेंगे। किशनपुर दांदों पुल का निर्माण पूरा होने से बांदा और फतेहपुर के लोगों को राहत मिलेगी। सालों के अधूरे पड़े पुलों का निर्माण को भी हरीझंड़ी मिलने की उम्मीद है।

गतवर्ष में खास उपलब्धि नहीं होने और कोरोना की दहशत में कैद होने से जिले का विकास कार्य प्रभावित था। मौजूदा साल में न सिर्फ कोरोना वायरस से लड़ने में सफलता मिलने बल्कि विकास का पहिया भी तेजी से दौड़ने की संभावना है। जिला प्रशासन कई योजनाओं के लिए खाका तैयार कर चुका हैं और जबकि शासन को भेजी जा चुकी है। जल्द इन प्रस्तावों पर भी मुहर लग सकती है। बिजली किल्लत से मुक्ति को उपकेन्द्रों को अपग्रेड किए जाने से साथ लंबी दूरी को फीडरों का लोड कम किए जाने की तैयारी है।

बेसिक स्कूलों को बदहाली से मिलेगी निजात

नए साल में बेसिक स्कूलों को बदहाली से निजात मिलेगी। 2128 स्कूलों के कायाकल्प का काम युद्ध स्तर पर जारी है। कोरोना काल के कारण सभी 14 बिंदुओं से विद्यालय संकृत्प नहीं हो सके। 31 फीसदी स्कूलों में सुंदरीकरण का काम अधूरा है, 339 स्कूलों में पेयजल की किल्लत और 305 स्कूलों में शौचालय नहीं है। वहीं अधिकतर विद्यालय बिजली की रोशनी से वंचित है। शिक्षा अधिकारियों का दावा है कि इस साल से विद्यालय कायाकल्प के सभी 14 बिंदुओं से संतृत्प हो जाएंगे।

डिवाइर मार्गो को होगा निर्माण,खूबसूरत होंगे चौराहें

इस साल शहर के विकास को गति मिलने की उम्मीद है। बिजली पोल सिफ्टिंग और अतिक्रमण के कारण अधूरा वीआईपी डिवाइडर मार्ग के धरातल में आने की उम्मीद है। पत्थर कटा से पटेलनगर तक प्रस्तावित डिवाइडर मार्ग के साथ देवीगंज से राधानगर तक एक अन्य डिवाइडर मार्ग भी शहर के विकास को पंख लगा सकते हैं। लखनऊ चौराहा, डीएम चौराहा समेत आधा दर्जन से अधिक चौराहा शहर की खूबसूरती को चार चांद लगाने की उम्मीद है।

पड़ोसी जिले की राह होगी आसार, चौड़ी होंगी सड़कें

लंबे समय बजट के अभाव में अधूरे पड़े यमुना नदी के पुलों के निर्माण शुरू होने के कयास लगाए जा रहे हैं। किशनपुर दांदों मार्ग के लिए शासन पहले ही बजट अवमुक्त कर चुकी है। ब्रिज का निर्माण तीव्र गति से जारी है। अनुमान है कि इस साल के अंत कर निर्माण ब्रिज पर वाहनों का संचालन शुरू हो जाएगा। वहीं जनप्रतिनिधियों का दावा है कि औंगासी और रामनगर कौहन के अधूरे पुलों का निमार्ण शुरू कराने के लिए शासन अनुमति देते हुए धनराशि अवमुक्त करने की उम्मीद है।

हटेगा गंदगी के दाग, खुलेगा प्लांट का ताला

लंबे समय के तकनीकी कारणों से शहर से सटे मलाका के समीप 9 करोड़ 37 लाख की लागत से सालिड वेस्ट प्लांट का संचालन शुरू होने की उम्मीद है। जिससे न सिर्फ शहर के स्वच्छता मिशन के गति मिलेगी बल्कि पालिका के आय में भी इजाफा होगा। नगर पालिका ने प्लांट के शुरू करने की सारी औंपचारिकताएं पूरी कर ली है। कार्यदायी संस्था जल्द ही प्लांट में सालों से झूल रहा ताला खोलने की तैयारी में हैं। वता दें कि 2011 में बनी परियोजना चार माह भी नहीं चल पाई। जिसके कारण पालिका खाली गड्ढों में डालवा रहा है।

ग्रामीणों को उपलब्ध होगा शुद्ध पीने का पानी

हर घर नल हर घर जल योजना के तहत करीब 260 गांवों को चिंहित कर पानी टंकी के निर्माण के लिए प्रस्ताव भेजा गया था। 12 नलकूपों के निर्माण के प्रस्ताव पर शासन ने मुहर लगा दी है। इन नलकूपों के निर्माण जारी है। इनके माध्यम से आसपास के गांवों को पेयजल से संतृत्प किया जाएगा। उम्मीद है अवशेष नलकूपों व पानी टंकियों के निर्माण को शासन इस साल मुहर लगा सकती है। सभी नलकूपों व पानी टंकी के धरातल में आने के बाद सभी 840 ग्राम पंचायतों के प्रत्येक परिवार को शुद्ध पानी उपलब्ध कराने की कवायद पूरी की जा सकती है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Doaba 39 s development will get wings on new year