DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  फतेहपुर  ›  डिजिटल बैठक में गूंजी बेसिक शिक्षा मंत्री की बर्खाश्तगी की मांग

फतेहपुरडिजिटल बैठक में गूंजी बेसिक शिक्षा मंत्री की बर्खाश्तगी की मांग

हिन्दुस्तान टीम,फतेहपुरPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 05:00 AM
डिजिटल बैठक में गूंजी बेसिक शिक्षा मंत्री की बर्खाश्तगी की मांग

फतेहपुर। संवाददाता

कोरोना काल में फर्जीवाड़ा का आरोप लगाते हुए कांग्रेसियों ने डिजिटल बैठक के माध्यम से बेसिक शिक्षा मंत्री की बर्खास्तगी के लिए आवाज बुलंद की। इसके साथ ही परिक्षार्थियों को संक्रमित होने से रोकने के लिए बिना वैक्सीनेशन के इंटर मीडिएट की परीक्षा न कराए जाने की प्रदेश सरकार से मांग की गई।

जिलाध्यक्ष अखिलेश पांडेय ने कहा कि कोरोना काल में जहां एक ओर पूरा प्रदेश व देश भुखमरी की कगार पर पहुंच गया तथा कई लोगों ने अपनों को खो दिया। जिससे सभी शोक में डूबे थे तो वहीं दूसरी ओर प्रदेश सरकार के बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश चंद द्विवेदी अपने भाई को विश्वविद्यालय में असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर नियुक्त कराने के लिए फर्जीवाड़ा करने में जुटे रहे। आरोप लगाया कि भाजपा शासन काल के मंत्री इस प्रकार का फर्जीवाड़ा करने में जुटे हुए है इसके बाद भी शासन खुद को स्वच्छ छवि वाला बताते नहीं थकता। मांग करते हुए कहा कि बेसिक शिक्षा मंत्री को तत्काल बर्खाश्त किया जाए, साथ ही आयोजित होने वाली इंटर मीडिएट की परीक्षा में शामिल होने वाले परिक्षार्थियों का पहले वैक्सीनेशन कराया जाए उसके बाद ही परिक्षाओं का आयोजन कराया जाए। जिससे किसी भी बच्चे पर संक्रमित होने का खतरा न मंडरा सके। इस बैठक में मोहसिन खान, संतोष कुमारी शुक्ल, राजीव लोचन निषाद, शिवाकान्त तिवारी, पंकज सिंह गौतम, डा. अतुल पासवान, मनोज घायल, सरदार रिक्की, श्रवण कुमार गौड़, अनुराग नारायण मिश्र, बबलू कालिया, विकास मिश्र, वीआर सरोज, नीलम भारती, मिस्बाहुल हक, इशरत खान आदि मौजूद रहे।

संबंधित खबरें