DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरकार की नीतियों के खिलाफ बैंककर्मियों का प्रदर्शन

सरकार की नीतियों के खिलाफ बैंककर्मियों का प्रदर्शन

वेतन वृद्धि की प्रमुख मांग को लेकर बैंक कर्मियों ने बुधवार से दो दिवसीय हड़ताल शुरू कर दी है। हड़ताल के चलते बैंकों के ताले तक नहीं खुले। बैंक कर्मी समय से स्टेट बैंक की मुख्य शाखा में पहुंचे और धरना प्रदर्शन किया।

स्टेट बैंक आफ इंडिया के इलाहाबाद मंडल के आंचलिक सचिव ह्रदयेश जायसवाल ने बताया कि भारतीय बैंक संघ व भारत सरकार से पांच मई को वेतन पुनरीक्षण पर वार्ता हुई थी। जिसके तहत संतोषजनक और पर्याप्त वेतन वृद्धि न होने व आईबीए द्वारा दो फीसदी का कुल वेतन बढ़ोतरी के प्रस्ताव किया था। जिसको नकारते हुए यूनाइटेड फोरम आफ बैंक यूनियन्स ने अखिल भारतीय स्तर पर वेतन पुनरीक्षण के लिए बैंकों में बुधवार और गुरुवार को हड़ताल की है। जिले की स्टेट बैंक की मुख्य शाखा में धरना प्रदर्शन किया गया, जहां अधिकारी भी इस हड़ताल में शामिल हैं। उन्होंने कहा कि हमारी मांग है कि त्वरित व शीघ्र वेतन पुनरीक्षण समझौता करें। वेतन में पर्याप्त वृद्धि व अन्य सेवा शर्तों में सुधार हो, स्केल 9 तक सभी अधिकारियों के लिए वेतन पुनरीक्षण समझौता भी हो। इस मौके पर आदित्य श्रीवास्तव, आशीष साहू, आदर्श सिंह, अरुणपाल, मिताली सिंह, मनीष कुमार, अजय, अखिलेश पाल, आरपी सिंह, जितेन्द्र कुमार, मुन्ना लाल, रमाकान्त, मानस मिश्रा और श्यामराज सहित सभी अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Bank employees display against government policies