DA Image
25 सितम्बर, 2020|1:33|IST

अगली स्टोरी

बारिश न होने से आसमान की ओर निहार रहा अन्नदाता

बारिश न होने से आसमान की ओर निहार रहा अन्नदाता

बारिश न होने से किसानों के खेत सूखने की कगार पर पहुंच चुके है। ऐसे में किसान आसमान की ओर टकटकी लगाए देख रहा है। बादल आने के बाद किसानों के चेहरे पर मुस्कान बिखर जाती है लेकिन बिना बरसे ही बादल खुलने के बाद एक बार फिर मायूष किसान निजी नलकूपों की ओर रुख करने लगता है। निजी नलकूपों से किसानों को पानी मनमाने दामों में खरीदना पड़ रहा है, इसके साथ ही अपने बारी के लिए इंतजार भी करना पड़ रहा है।

मौसम की बेरुखी से किसान हताश होने लगे है, अब तक किसानों के खेतों में पानी ठहरने लायक भी बरसात नहीं हो सकी। जिसकी वजह से धान की फसल सूखने की कगार पर पहुंच रही है। जिसके चलते किसानों को निजी नलकूप संचालकों से पानी खरीदना पड़ रहा है। जिससे उनकी खेती अधिक मंहगी पड़ रही है, आलम यह है कि दर्जनों गांव के किसानों को खेतों की सिंचाई करने के लिए निजी नलकूपों का ही सहारा बचा है। जिसके चलते मनमाने दाम निजी नलकूप संचालकों द्वारा वसूले जा रहे है। एक तो प्रति घंटे के अनुसार का तय रेट उस पर पाइप लाने का खर्च करके किसान परेशान हो रहा है। इसके साथ ही लगातार होने वाली सिंचाई के चलते किसानों को अपनी बारी आने के लिए पहले तो इंतजार करना पड़ता है, लेकिन जब उसका नंबर आता है तो रात भर जागकर सिंचाई कर पाता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Annadata was looking at the sky due to no rain