DA Image
29 दिसंबर, 2020|4:43|IST

अगली स्टोरी

तीन खरीद केन्द्रों के निरीक्षण में मिला एक किसान

तीन खरीद केन्द्रों के निरीक्षण में मिला एक किसान

फतेहपुर। हिन्दुस्तान टीम

किसानों की समस्याओं के समाधान के लिए सोमवार को नोडल अधिकारी/विशेष सचिव राजेन्द्र कुमार सिंह ने तीन धान खरीद केन्द्रों का निरीक्षण किया। तीनों खरीद केन्द्रों में नोडल अधिकारी को मिले एक किसान से खरीद केन्द्रों में आ रही दिक्कतों पर जानकारी ली। जिसके उपरांत उन्होंने तय मानक पर खरीद करते हुए 72 घंटे के अंदर किसानों का भुगतान करने के निर्देश दिए।

दोआबा पहुंचे नोडल अफसर भिटौरा स्थिति पीपीएफ के गोदाम में पहुंचे। जहां पांच सौ बोरियां डंप मिलने पर उन्होंने बोरियों को मिल भेजने के निर्देश दिए। उन्होंने खरीद में आ रही दिक्कतों और अब तक एजेंसी द्वारा की गई खरीद ब्योरा लेते हुए आवश्यक निर्देश दिए। अफसर खरीद केन्द्र थरियांव हाट शाखा पहुंच कर खरीद के अभिलेखों को चेक किया। चौकाने वाली बात सामने आई कि हाईब्रिड के तौबा कर रही एजेंसी ने 122 किसान से 5999 कुंतल की तौल की। यहां नोडल अफसर के सामने एक किसान का लाया गया। जिसने खरीद केन्द्र में शतप्रतिशत नियम मुताबिक तौल होने की बात कही। खागा और किशनपुर खरीद में भी नोडल अधिकारी को कागजों में बेहतर खरीद मिली। उन्होंने डिप्टी आरएमओ को निर्देश दिए कि तौल के उपरांत 72 घंटे के अंदर किसान का भुगतान कराना सुनिश्चित कराएं।

दूसरी एजेंसी के केन्द्रों से दूरी?

फतेहपुर से थरियांव के रास्ते में पीसीएफ, सहकारी समिति समेत कई खरीद एजेंसियों के खरीद केन्द्र है। लेकिन नोडल अफसर रास्ते में पड़ने वाले इन केन्द्रों में न पहुंच कर सिर्फ विपणन के खरीद केन्द्रों में जांचना सवालों में है। बता दें कि दोआबा में विपणन को अपवाद मानते हुए अधिकतर खरीद केन्द्रों में अंधेरगर्दी मची हुई है। इन केन्द्रों में पहुंचने पर अफसर को खरीद की हकीकत रूबरू होना चाहिए था।

गौशाला में छाया की व्यवस्था बढाने के निर्देश

नोडल अफसर सलेमाबाद गौशाला का निरीक्षण कर यहां की व्यवस्थाओं को जांचा। उन्होंने गौशाला में मौजूद 444 मवेशियों को सर्दी से बचाने के लिए छाया की व्यवस्था बढ़ाने के निर्देश दिए। गौशाला में मवेशियों के लिए मिले चारा आदि की उपलब्धता पर अफसर संतुष्ट नजर आए।

चौपाल लगा सुनी शिकायतें

नोडल अधिकारी ने कसेरुवा, बेंती सादात और पलवा गांव में चौपाल लगा कर लोगों की शिकायतें सुनी। उन्होंने वरासत के मामले की ग्रामीणो से जानकारी ली, जिसमें पता चला कि वरासत का कोई भी मामला लंबित नहीं है। उन्होंने राजस्व कर्मियों को वरासत के मामले को त्वरित निष्तारण करने के निर्देश दिए।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:A farmer found in inspection of three procurement centers