DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  फतेहपुर  ›  बीमार अस्पताल के भरोसे 50 हजार आबादी

फतेहपुरबीमार अस्पताल के भरोसे 50 हजार आबादी

हिन्दुस्तान टीम,फतेहपुरPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 05:00 AM
बीमार अस्पताल के भरोसे 50 हजार आबादी

फतेहपुर। संवाददाता

कोरोना संक्रमण की रफ्तार कम होने के साथ मच्छरजनित बीमारी पैर पसारने लगी है। बीमारी की जद में आने वाले मरीजों की दौड़ सरकारी अस्पताल की ओर शुरू हो गई है। लेकिन बाइंतजामी की जद में डूबी पीएचसी में लोगों को इलाज नहीं मिल पा रहा है। नतीजन इलाके की 50 हजार की आबादी की सेहत निजी अस्पतालों व झोलाछाप पर निर्भर है।

पीएचसी असोथर समेत सरकारी अस्पतालों की ओपीडी बंद है। दवा, जांच समेत अन्य सेवाएं भी बंद है। मरीज इलाज के लिए अस्पताल पहुंचता है। मरीज को हाथ लगाना दूर डॉक्टर कर्मचारी तीमारदार से सीधी मुंह बात कर नहीं करते। सीधे उसे निर्देशों को हवाला देकर उन्हें वापस कर दिया जाता है। हताश निराश मरीज के पास झोलाछाप या निजी अस्पताल में जाने के अलावा दूसरा विकल्प नहीं है। पीएचसी की ध्वस्त चिकित्सीय व्यवस्था को लेकर लोगों में नाराजगी है। एमओआईसी डॉ.उपेन्द्र का कहना है कि ओपीडी खोलने को लेकर कोई गाइड लाइन प्राप्त नहीं हुई है। कोविड जांच या उसके संबंधी कार्य किए जा रहे हैं। डेंगू मलेरिया से निपटने को लेकर भी कोई निर्देश प्राप्त नहीं हुए हैं।

संबंधित खबरें