DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  मृत्यु प्रमाण पत्र न बनने से भटक रही महिला
फर्रुखाबाद कन्नौज

मृत्यु प्रमाण पत्र न बनने से भटक रही महिला

हिन्दुस्तान टीम,फर्रुखाबाद कन्नौजPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 06:01 AM
मृत्यु प्रमाण पत्र न बनने से भटक रही महिला

फर्रुखाबाद। संवाददाता

ग्राम पंचायतों में मृत्यु प्रमाण पत्र को लेकर किस तरीके से सचिव मनमानी और लापरवाही करते हैं। यह सोना जानकीपुर की महिला की व्यथा से पता लग रहा है। महिला ने पंचायत सचिव पवन नायक पर आरोप लगाए हैं और इसको लेकर जिलाधिकारी से भी शिकायत की है। सोना जानकीपुर की अशोक लता ने बताया कि उसके पति शिक्षक थे जिनकी कोरोना संक्रमण से मौत हो चुकी है। सास सुखदेवी की मृत्यु बीते वर्ष हो गई थी। इसके बाद से मृत्यु प्रमाण पत्र और परिवार रजिस्टर की नकल के लिए वह और उसका देवर लगातार भटक रहा है मगर कोई सुनवाई नहीं हो रही है। तहसीलदार और बीडीओ को प्रार्थना पत्र दिया था इसके बाद भी सास का प्रमाण पत्र नहीं बना है। पीड़िता ने कहा कि पंचायत डयूटी के दौरान उसके पति संक्रमित हो गए थे और उनकी मौत हो गई थी। मृत्यु प्रमाण पत्र परिवार रजिस्टर की नकल के आधार पर विरासत होनी है और जिसके बाद कृषक बीमा के अंतर्गत लाभ मिलना है। उन्होंने बताया कि 45 दिन के भीतर आवेदन करने पर ही यह लाभ मिल सकता है। मगर इसमें लापरवाही की जा रही है। इस मामले में पंचायत सचिव पर कठोर कार्रवाई की मांग की गई है।

संबंधित खबरें