DA Image
17 नवंबर, 2020|4:20|IST

अगली स्टोरी

गहरा गड्ढा बंद कराने को उतरे ग्रामीण

गहरा गड्ढा बंद कराने को उतरे ग्रामीण

मूसाखिरिया गांव में दस दिन पहले एक धार्मिक स्थल के पास गहरे गड्ढे में भरे पानी में डूबने से एक किशोर की मौत हो गई थी। ग्रामीण गहरे गड्ढे को लेकर डरे हुए हैं। ग्रामीण इसे बंद कराए जाने की मांग कर रहे हंै जबकि धार्मिक स्थल के महंत ने इसे बंद करने से इन्कार कर दिया है। ऐसे में यहां ग्रामीण गुस्से में हैं। रविवार को ग्रामीणों की शिकायत पर थानाध्यक्ष ने पहुंचकर जांच पड़ताल की। महंत के न होने पर पुलिस को बैरंग लौटना पड़ा। 22 अक्तूबर को मुसाखिरिया गांव में एक धार्मिक स्थल के पास गहरे गड्ढे में भरे पानी में डूबने से किशोर नितिन कुमार की जान चली गई थी। अब ग्रामीण इस गड्ढे को भरवाए जाने की मांग कर रहे हंै। ग्रामीणों का कहना है कि महंत से गड्ढा भरने के लिए कहा गया तो उन्होंने इन्कार कर दिया। ऐसे में गड्ढा खुला हुआ है कभी भी इससे बड़ा हादसा हो सकता है और भी किसी की जान जा सकती है। यहां बढ़ रही विरोध की स्थिति को देखकर ग्रामीणों ने थाना पुलिस को जानकारी दी। इस पर थानाध्यक्ष दिनेश कुमार गौतम मौका पर पहुंचे। जब उन्होने धार्मिक स्थल के महंत को बुलाया तो पता चला कि वह कहीं गए हैं। थानाध्यक्ष ने ग्रामीणों को भरोसा दिया कि वह महंत से बात कर गड्ढे को बंद करवाएंगे। इस पर ग्रामीण शांत हो गए।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Villagers descended to close the deep pit