DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › नीम की छांव में दिन गुजार रहे ग्रामीण
फर्रुखाबाद कन्नौज

नीम की छांव में दिन गुजार रहे ग्रामीण

हिन्दुस्तान टीम,फर्रुखाबाद कन्नौजPublished By: Newswrap
Tue, 25 May 2021 10:31 PM
नीम की छांव में दिन गुजार रहे ग्रामीण

फर्रुखाबाद। संवाददाता

शिवरईमठ ग्राम सभा के ग्रामीण कोरोना के दूसरे फेस से इस कदर घबराए है कि वह लोग दिनभर ताजी हवा व आक्सीजन लेने के लिए नीम व पीपल के पेड़ की छाव में दिनभर गुजार देते है। गांव में बुखार, खासी, जुखाम के मरीज अभी भी है। वही ग्रामीण गांव में गंद्गी को लेकर खासे परेशान है। नवाबगंज ब्लाक की ग्राम सभा शिवरईमठ में जहानपुर व रसीदाबाद बल्लव मजरा लगता है।

यहां की आबादी करीब 6 हजार से अधिक है। किसी समय इस ग्राम सभा में जुखाम, बुखार, खासी के मरीजो की लम्बी सूची थी लेकिन मई के तीसरे सप्ताह के बाद से यहा संख्या कम हो गई है। लेकिन अभी भी इस ग्राम सभा में तीन दर्जन से अधिक लोग जुखाम, खासी, बुखार से पीि×डत है। हालाकि आशा के माध्यम से मेडिसन किट ग्रामीणों की दी गई है। ग्राम सभा में कोरोना को लेकर ग्रामीणों से बात की गई तो वास्तव में दूसरे फेस के कोरोना से वह बेहद डरे सहमे दिखे। शिवरईमठ गांव के आसपास आम के बाग है। पीपल, नीम के पेड़ भी है। लोगो का कहना है कि बुजुर्ग लोग तो ज्यादातर इन्ही पे×ड़ों के नीचे बैठकर दिनभर काट देते है वही युवा भी बैठे नजर आते है। उनका कहना है कि ताजी हवा व भरपूर आक्सीजन से राहत मिलेगी। क्योकि यह पेड़ आक्सीजन देते है। गांव में पड़ताल के दौरान ग्रामीण गंद्गी को लेकर परेशान दिखे। तालाब के आसपास झाड़ झंकार व गंद्गी फैली है। गांव के अंदर भी साफ सफाई नहीं होती है। उनका कहना है कि सफाई कर्मी को रोजाना ही सफाई कार्य करना चाहिए लेकिन ऐसा नहीं हो पाता। गांव के लोग अपने घर व आसपास सफाई कर लेते है लेकिन सब जगह कैसे करे।

संबंधित खबरें