DA Image
20 सितम्बर, 2020|9:33|IST

अगली स्टोरी

वक्फ जमीन पर भूमाफिया की नजर

वक्फ जमीन पर भूमाफिया की नजर

पूर्व विधायक उर्मिला राजपूत को वक्फ की जमीन के दस्तावेजों में हेरा फेरी के आरोप में भूमाफिया घोषित करने के बाद प्रशासन एक्शन में आ गया है। शहर के मोहल्ला सुतहट्टी में करोड़ों की वक्फ जमीन पर भूमाफियाओं की नजर है। डीएम ने शिकायत मिलने के बाद एसडीएम सदर को जांच के आदेश जारी कर दिए हैं।

इससे पट्टे पर जमीन लेने वाले लोगों में हड़कंप मच गया है। गोलाकोहना फतेहगढ़ के शाहिद हुसैन ने जिलाधिकारी से शिकायत की है कि मोहल्ला सुतहट्टी में करोड़ों की जायदाद वक्फ है जिसे जाफरी बेबा इलाहीवक्श की ओर से वर्ष 1939 में वक्फ बोर्ड में पंजीकृत कराया गया था। वर्ष 2013 तक ताहिर मुतवल्ली रहे। उनकी मृत्यु के बाद किसी व्यक्ति को बतौर मुवतल्ली वक्फ बोर्ड ने नियुक्त नहंी किया। शहर के कुछ भूमाफियाओं की ओर से उपनिबंधक कार्यालय में साठ गांठ कर करोड़ों की जायदाद को पट्टे पर विक्रय कर अवैध कमाई की जा रही है। शिकायतकर्ता ने उपनिबंधक के समक्ष पंजीकृत हो रहे विक्रयनामा को तत्काल प्रभाव से रोके जाने की मांग की। उपनिबंधक ने अपनी जांच आख्या दी कि इस संपति से संबंधित छह कराएनामे उनके समक्ष पंजीकरण के लिए प्रस्तुत हुए हैं। उक्त पत्रों में 6 लाख 85 हजार का राजस्व आया है। डीएम ने अपने आदेश में कहा कि मुतवल्ली की वर्ष 2013 में मृत्यु हो गई थी। इसके बाद वक्फ भूमि पर कोई मुतवल्ली नियुक्त नहीं है। जिस प्रकार पहले जोर शोर से शिकायत की गई थी कुछ समय बाद दोनों पक्ष निष्क्रिय हो गए। इससे संभावना है कि अंदर खाने कोई कुत्सित समझौता पक्षकारों के मध्य हुआ है जिससे वक्फ की मूल्यवान भूमि को खुर्द बुर्द किए जाने की संभावना है। डीएम ने इस मामले में एसडीएम सदर को आदेशित किया है कि मामले का स्थलीय निरीक्षण कर पूरे प्रकरण की जांच 15 दिवस में करके पूरी रिपोर्ट उपलब्ध कराएं। जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी को जांच में पूरी मदद करने के भी निर्देश दिए गए हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:The land mafia 39 s eye on the Waqf land