DA Image
28 सितम्बर, 2020|8:26|IST

अगली स्टोरी

रसोइयों को अब पौष्टिक और स्वादिष्ट भोजन बनाने का दिया जाएगा प्रशिक्षण

रसोइयों को अब पौष्टिक और स्वादिष्ट भोजन बनाने का दिया जाएगा प्रशिक्षण

स्कूलों में मिड-डे-मील बनाने वाली रसोइयों को अब पौष्टिक और स्वादिष्ट भोजन बनाने का प्रशिक्षण दिया जाएगा। मध्यान्ह भोजन प्राधिकरण की तरफ से इसका ट्रेनिंग मॉड्यूल तैयार कर लिया है। कोरोना के कारण लगे प्रतिबंधों में ढील मिलने के बाद जिलों में प्रशिक्षण शुरू होगा।

मध्यान्ह भोजन योजना शुरू होने के बाद यह पहला अवसर होगा। जब रसोइयों को प्रशिक्षण मिलेगा। प्रशिक्षण का उद्देश्य रसोइयों में भोजन की सुरक्षा, स्वच्छता, पौष्टिकता की बेहतर समझ विकसित करना है। इससे उनके द्वारा पकाए जाने वाले भोजन की गुणवत्ता में सुधार होगा। सत्र के अंत तक प्रशिक्षण पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। बेसिक शिक्षा विभाग और मध्यान्ह भोजन प्राधिकरण ने ट्रेनिंग का मॉड्यूल तैयार कर लिया है। कोरोना के फैलते संक्रमण में हालात में सुधार होने के बाद प्रशिक्षण शुरू हो जाएगा। प्रशिक्षण के दौरान रसोइयों को व्यक्तिगत साफ-सफाई, भोजन का समुचित रख-रखाव जैसी बातों को भी बताया जाएगा। जिले में 1290 प्राथमिक और 565 पूर्व माध्यमिक विद्यालयो में लगभग 4500 रसोइयों की तैनाती है। परिषदीय उच्च प्राथमिक स्कूल, राजकीय, सहायता प्राप्त और मदरसा आदि में मिड-डे- योजना संचालित है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:The cooks will now be trained to make nutritious and tasty food