DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिजली के टूटे तार ने छात्र की ले ली जान

बिजली के टूटे तार से चिपककर एक छात्र की मौत हो गई। घटना से परिवार में कोहराम मच गया। बिजली वालों पर लापरवाही का आरोप जड़ गांव वाले भड़क गए। रात में ही पुलिस ने ग्रामीणों को मनाने का प्रयास किया। गुरुवार सुबह एसडीओ और तहसीलदार ने पहुंचकर ग्रामीणों को समझाया तब कही जाकर शव उठा। पूरनपुर जिठौली गांव निवासी कुंअरपाल का दस वर्षीय पुत्र गोलू बुधवार शाम घर से दूध लेने के लिए निकला हुआ था। जब वह रमेश के घर के पास पहु्रंचा कि तभी खेत की ओर टूटे बिजली तार का करंट लगने से छात्र की मौत हो गई। गोलू तार से ही चिपक गया। इसको देखकर आस पास के ग्रामीणों ने हल्ला मचाया और सलेमपुर बिजली सब स्टेशन खबर कर आपूर्ति बंद कराई। घटना की जानकारी पर रात में ही थाना पुलिस के अलावा सीओ भी मौके पर पहुंचे। परिजनों ने शव का पोस्टमार्टम कराने से इनकार कर दिया। लापरवाही के लिए बिजली वालो पर आरोप जड़े। ऐसे में स्थिति खराब हो गई। पुलिस भी लौट आई। गुरुवार सुबह तहसीलदार शेख आलम, एसडीओ शैलेंद्र प्रताप पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। ग्रामीणों से बातचीत की। ग्रामीणों ने साफ मना कर दिया कि वह बच्चे के शव का पोस्टमार्टम नहीं कराएंगे। बिजली वालों की बड़ी लापरवाही हुई है। तहसीलदार ने उन्हें भरोसा दिया कि इसमें जांच कर कार्रवाई होगी। वहीं एसडीओ ने कहा कि परिजन पोस्टमार्टम कराएं जो विभाग की ओर से मदद होगी वह की जाएगी। बगैर पोस्टमार्टम कार्रवाई के कोई मदद नहीं होगी। इसमें जिसकी गलती है उस पर कार्रवाई होगी। इसमें परिजन मान गए और फिर शव का दरोगा देवीप्रसाद गौतम ने पंचनामा भरा। पोस्टमार्टम के बाद गोलू के शव को परिजनों के हवाले कर दिया गया। गोलू सात भाई बहनों में चौथे नंबर का था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The broken wire of the student took the student