DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › कोई लेफ्टिनेंट तो कोई बनेगा डॉक्टर
फर्रुखाबाद कन्नौज

कोई लेफ्टिनेंट तो कोई बनेगा डॉक्टर

हिन्दुस्तान टीम,फर्रुखाबाद कन्नौजPublished By: Newswrap
Sun, 01 Aug 2021 04:11 AM
कोई लेफ्टिनेंट तो कोई बनेगा डॉक्टर

फर्रुखाबाद। संवाददाता

हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा में अच्छे अंकों से पास होने वाले मेधावियों में ऊंची उड़ान भरने की चाहत है। कोई सेना में अफसर तो कोई डॉक्टर और आईएएस बनने की तमन्ना रखता है। 92.16 फीसदी अंक से पास हुए सरस्वती बाल विद्या मंदिर विनय श्रीवास्तव का कहना है कि वह सैन्य अफसर बनना चाहता है। कोरेाना काल में टाइम मैनेजमेंट के साथ पढ़ाई की है। कोरोना में जब स्कूलों में छुट्िटयां थीं तो ऐसे मौके को उन्होंने गंवाना नहंी जाना। उन्होंने बताया कि घर वाले भी लगातार पढ़ाई के लिए प्रेरित करते रहे। 92 फीसदी अंक पाने वाले आर्यन राठौर इंजीनियर बनना चाहता है। उसका कहना है कि यदि परीक्षाएं होती तो और भी बेहतर परिणाम आते। स्कूलों में पढ़ाई न होने से नुकसान हुआ है। 91.16 फीसदी अंक पाने वाले उत्कर्ष लेफ्टिनेंट बनना चाहते हैं। उसका कहना है कि बिना परीक्षा दिए जो परिणाम आया उससे वह ज्यादा संतुष्ट नहीं हैं यदि पेपर देने के बाद परिणाम आता तो अलग ही बात होती।

संबंधित खबरें