DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एसडीएम सदर से धक्कामुक्की, कर्मी को पीटा

एसडीएम सदर से धक्कामुक्की, कर्मी को पीटा

जमीन संबन्धी एक मामले की पत्रावली को लेकर सोमवार को एसडीएम की कुछ लोगों से कहासुनी हो गई। विवाद इतना बढ़ा कि धक्कामुक्की हो गई। इस वीच क्षुब्ध लोगों ने एक कर्मी को पीट दिया। एसडीएम ने पूरे मामले की जानकारी डीएम को दी। डीएम मोनिका रानी ने बताया कि एसडीएम सदर अभ्रदता करने की जानकारी दी है। इस मामले में पूरी रिपोर्ट मांगी है। सीसीटीवी के फुटेज भी तलब किए गए हैं।

जहानगंज थाना क्षेत्र में धारा 145 के वाद को लेकर कुछ लोग एसडीएम सदर से उनके कक्ष में मिलने गए थे। जमीन पर अवैध तरीके से हो रहे निर्माण को लेकर कुछ लोगों ने एसडीएम से आपत्ति जताते हुए स्टे की मांग की। इसी बात को लेकर कुछ लोगों की एसडीएम सदर से नोकझोंक होने लगी। इन लोगों का कहना था कि देरी का लाभ कुछ लोगों को मिल रहा है। इस बीच एसडीएम सदर से नोकझोंक बढ़ने लगी। वाद विवाद इतना अधिक गर्म हो गया कि यहां पर हंगामा हो गया। हंगामा बढने के बाद कक्ष मंें लोगों की संख्या बढ़ गई। जब एक कर्मी ने कुछ लोगों को कक्ष में आने से रोका तो इस पर कर्मी की पिटाई कर दी गई। यह देखकर एसडीएम सदर से हस्तक्षेप करना चाहा तो धक्कामुक्की हो गई। एसडीएम सदर कक्ष में हंगामे की खबर पर कलेक्ट्रेट कर्मियों में हड़कंप मच गया। कुछही देर में एसडीएम कक्ष से निकल कर डीएम को मामले की जानकारी देने गए। डीएम ने बताया कि एसडीएम सदर ने उन्हें प्रकरण की जानकारी देने के साथ ही अपने साथ अभद्रता के बारे में बताया है।

जमीन पीडब्ल्यूडी की रिपार्ेट तहसील से आई थी

डीएम मोनिका रानी ने बताया कि जिस जमीन के बारे में उन्हें जानकारी दी गई। उस जमीन की तहसील और थाने से रिपोर्ट आई थी कि यह लोक निर्माण विभाग की है। इसको लेकर लोनिवि के अधिशाषी अभियंता से रिपोर्ट मांगी है। उन्होंने बताया कि विवाद को लेकर सीसीटीवी कैमरे के फुटेज मांगे गए हैं। मामले की जांच कराई जाएगी।

पहले भी हो चुका है विवाद

कमालगंज क्षेत्र के एक मदरसे की जांच को लेकर भी पिछले समय एसडीएम सदर अमित आसेरी से कुछ लोगों का विवाद हो गया था। इस दौरान भी धक्कामुक्की हुई थी। वहीं दूसरा भी ऐसे लोगों से जुड़ा है जो कि पिछले मामले में भी शामिल रहे थे।

विवाद के दो घंटे बाद दे दिया स्टे

जहानगंज निवासी विनोद कुमार ने आलूपुर गांव की जमीन पर निर्माण को लेकर एतराज जताया था। इसी मामले में एसडीएम से लोगों का विवाद हुआ था। दो घंटे बाद एसडीएम सदर ने निर्माण को लेकर स्टे जारी कर दिया और लोनिवि के अधिशाषी अभियंता को 27 मई तक नक्से के साथ स्पष्ट रिपार्ेट कोर्ट में प्रस्तुत करने के निर्देश दिए।

बयान लेने गए तो दफ्तर से खिसके

एसडीएम सदर कक्ष में कुछ लोगों के विवाद के बाद जब मीडिया कर्मी एसडीएम सदर से जानकारी करने गए तो अहलमद संजय मिश्रा एसडीएम को मीडिया कर्मियों की जानकारी देने गए। इस बीच एसडीएम दफ्तर से निकल लिए। शाम पांच बजे एसडीएम सदर के सीयूजी नंबर पर काल गई तो फोन नहीं रिसीव हुआ। इसके बाद शाम 5.13 बजे फोन रिसीव तो हुआ तो बताया कि वीडियो कांन्फ्रेंसिंग में हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: SDM